धर्म गुरुओं ने की अपील– शब-ए-बारात पर घर पर करें इबादत, मस्जिद में और बाहर भीड़ न लगाएं

फ़ैयाज़ खान (ब्यूरो)

ग़ाज़ीपुर । कॅरोना महामारी के मद्देनजर इस बार शब-ए-बारात भी लोगों को घर के अन्दर ही मनाना पड़ेगा।मदरसा कादरिया ग़ाज़ीपुर के प्रिंसिपल मौलाना फरीद ने लोगों से अपील किया कि सारे मुस्लिम भाई घरों में रहकर अल्लाह की इबादत करें और बाहर न निकलें।अभी कुछ दिन पहले CM से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के ज़रिए मौलाना फरीद की बात हुई इसमे भी मुख्यमंत्री ने कहा कि सारे धर्मगुरु अपने लोगों को समझायें के वो लॉकडौन का उल्लंघन न करें। ज़मानिया स्थित वक़्फ़ शाही जामा मस्जिद के सेक्रेटरी / मोतवल्ली मौलाना मोहम्मद तनवीर रजा ने बताया कि शबे बरात 9 अप्रैल को है इस मौके पर लोगों से गुजारिश भी की कि वह घर में रहकर इबादत करें मरहूमीन को ईसाले सवाब करें कजाए उमरी पढ़ें नमाज ए नफील पढ़ें तिलावते कुरान करें सदका करें भूखों को खाना खिलाएं और अल्लाह से दुआ करें अल्लाह ताला कोरोना जैसी महामारी से हिंदुस्तान और दिगर मुल्क के लोगों को महफूज रखें और इस बीमारी से हम सबको बचाएं उन्होंने तमाम मुसलमानों से यह भी कहा है कि लॉक डाउन का उल्लंघन ना करें घर में रहकर ही इबादत करें मस्जिद, कब्रिस्तान , मजारों पर ना जाएं शोर शराबा पटाखा किसी भी तरह का कोई भी गैर शरई काम ना करें और शासन प्रशासन का साथ देते हुए लाक डाउन का पालन करें इस महामारी से जो लड़ाई आज मुल्क लड़ रहा है उसमें हम सबको साथ देना है और हम सब इस लड़ाई को इंशाल्लाह जीतेंगे उन्होंने यह भी आग्रह किया के त्यौहारों मे फिजूल खर्च से अच्छा है कि गरीबों यतीम को जरूरत के सामान मरहूमीन के नाम पर सवाब की नियत से दिया जाए!



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!