नोयडा में प्रशासन ने 200 कोरोना संदिग्ध को किया क्वारेन्टीन

उत्तर प्रदेश के नोएडा में सेक्टर-8 की झुग्गी में 200 लोग कोरोना संदिग्ध हैं । मामले की जानकारी पाते ही स्वास्थ्य विभाग और पुलिस की टीम मौके पर पहुंची। हालांकि, नोएडा के जिलाधिकारी सुहास लालिनाकेरे यतिराज ने कहा है कि नोएडा के सेक्टर- 8 में कोरोना का कोई केस नहीं है। लोगों को एहतियात के तौर पर क्वारनटीन किया जाएगा।

दरअसल, एक शख्स झारखंड से आया है । इसके बाद वो यहां लोगों से मिला । पुलिस और स्वास्थ्य विभाग की टीम को शक है कि करीब 200 लोग पूरे मामले में कोरोना संदिग्ध हो सकते हैं । इसलिए स्वास्थ्य विभाग की टीम सभी एहतियात बरतते हुए करीब 200 लोगों को एंबुलेंस के जरिए क्वारनटीन सेंटर ले जा रही है जहां उनका कोरोना टेस्ट भी किया जाएगा ।

इससे पहले नोएडा में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को ध्यान में रखते हुए प्रशासन ने शहर के 4 निजी अस्पतालों का अधिग्रहण किया । जिलाधिकारी सुहास एल वाई ने मंगलवार को इन अस्पतालों को हैंडओवर करने की कार्यवाही की। उन्होंने चारों हॉस्पिटलों को अधिग्रहण कर मुख्य चिकित्सा अधिकारी को सौंप दिया है । मुख्य चिकित्सा अधिकारी को इस संबंध में आवश्यक दिशा-निर्देश भी दिए गए हैं ।

जिला मजिस्ट्रेट सुहास एल वाई के द्वारा सुरभि हॉस्पिटल सेक्टर- 35 नोएडा, भारद्वाज हॉस्पिटल सेक्टर- 29 नोएडा, लाइफ केयर हॉस्पिटल सेक्टर- 61 नोएडा और इंडोगल्फ हॉस्पिटल सेक्टर- 19 नोएडा को हैंडओवर करने के आदेश दिए हैं ।

बता दें उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस के सबसे ज्यादा मामले नोएडा में ही हैं । यहां पर कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 59 है। सीएम योगी आदित्यनाथ ने भी माना कि बीते 4 से 5 दिन में कोरोना मरीजों की तादाद बढ़ी है।

वहीं, देश में कोरोना के मरीजों की संख्या 4700 से ज्यादा हो चुकी है । मरने वालों का आंकड़ा 124 तक पहुंच गया है । हालांकि अब तक 325 मरीज कोरोना के खिलाफ जंग जीतकर घर लौट चुके हैं । महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा 1000 से ज्यादा लोगों में कोरोना संक्रमण है, जबकि 64 मरीजों की मौत हो चुकी है।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!