कोरोना वायरस : लॉक डाउन खुलने के बाद भी सामूहिक कार्यक्रमों की अनुमति नही- अपर पुलिस अधीक्षक

रमेश यादव (संवाददाता)

– शबे बरात में किसी को घरों से निकलने की इजाजत नहीं

– फतेहा पढ़ने कब्रिस्तान व नमाज पढ़ने मस्जिद जाने पर होगी पूरी पाबंदी

दुद्धी।लॉक डाउन की अवधि 14 को जरूर खत्म हो रही है मगर इसके बाद भी किसी सामूहिक कार्यक्रम की अनुमति नही मिलेगी। उक्त उदगार जनपद के अपर पुलिस अधीक्षक ओपी सिंह ने सोमवार को स्थानीय कोतवाली में विभिन्न धर्म के अगुआओं को संबोधित करते हुए कही। उन्होंने कहा कि लॉक डाउन के दौरान पड़ने वाले सभी धार्मिक कार्यक्रमों को भी निरस्त कर दिया जा रहा है। जब नवरात्र, रामनवमी पर मंदिरों में प्रवेश व जुमा की नमाज के लिए मस्जिदों में दाखिल होने की इजाज़त नही है तो शबे बारात पर कब्रिस्तान में फतेहा पढ़ने और मस्जिद में मिलाद या नमाज पढ़ने की इजाज़त का कोई सवाल ही नही उठता है। प्रशासन इस बात की कत्तई इजाजत नही देगा, बल्कि पुलिस कड़ाई से ऐसे लोगों से निपटेगी। सदर व अंजुमन कमेटी के मेम्बरान इस बात को आम पब्लिक तक पहुंचा दें।
एडिशनल एसपी ने यह भी बताया कि लॉक डाउन खत्म होने के बाद इन बातों का ध्यान रखें। कोरोना वायरस का प्रकोप पूरी दुनियां में फैला हुआ है। इससे अब तक हजारों लोगों की मौत हो चुकी है। दुनिया भर में इस वायरस से संक्रमित रोगियों की संख्या लाखों में पहुंच चुकी है। अपने देश में भी सरकार ने इस वायरस के फैलाव को रोकने के लिए पूरे देश में लॉक डाउन किया है, हर व्यक्ति अपने घरों तक ही सीमित है। इस लॉक डाउन की अवधि 14 अप्रैल तक है।इसके बाद लॉक डाउन खुलने की कुछ संभावाएं यदि होती हैं तो आपको जिन बातों की ध्यान रखना है उसमें कोशिश करें कि कम से कम ही घर से बाहर निकलें, हो सके तो यात्रा पर जानें को टालें। घर, बाहर और सफर के दौरान सफाई का विशेष ध्यान रखें। हाथों को सिनेटाइजर से बार-बार साफ करें। सफर के दौरान हाथों पर सर्जिकल दस्तानें पहने। किसी भी तरह के संक्रमण से ग्रस्त हों तो ज्यादा लोगों के संपर्क में न आएं । तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें। अपने या किसी और के आंख, मुंह और चेहरे को ज्यादा न छुएं। हाथों को पानी और साबुन से समय-समय पर धोते रहें। पानी और आहार की गुणवत्ता को लेकर कोई लापरवाही न बरतें।
काम और यात्रा के दौरान बीमार लोगों के करीब जाने से बचें।
बीमार या संक्रमित लोगों से बात करते समय मुंह ढक लें। रोग को दबाएं या छुपाएं नहीं, तुरंत डॉक्टर से सलाह और उपचार लें। ये कतई न समझें कि कोरोना वायरस का खतरा अभी टल गया है। कोरोना से बचाव के लिए सरकार और डब्लूएचओ द्वारा बताए गए दिश-निर्देशों का पालन करें।
इस अवसर पर उपजिलाधिकारी सुशील कुमार यादव, पुलिस उपाधीक्षक संजय वर्मा, प्रभारी निरीक्षक अशोक सिंह, चैयरमैन राजकुमार अग्रहरी, सदर मु.शमीम अंसारी, व्यापार मंडल अध्यक्ष अक्षयबर नाथ, जै बजरंग अखाड़ा कमेटी के अध्यक्ष कमलेश सिंह, पूर्व अध्यक्ष कन्हैया लाल अग्रहरि, केंद्रीय अखाड़ा कमेटी के अध्यक्ष राफे खान सहित अन्य लोग उपस्थित थे।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!