खण्ड शिक्षा अधिकारी ने लापरवाह ग्राम पंचायत अन्नपूर्णा केंद्र प्रभारियों की वेतन रोकने की कि संस्तुति

रमेश यादव ( संवाददाता )

– अन्नपूर्णा केंद्र प्रभारी द्वारा भोजन ग्रहण करने की सूचना नही देने वेतन रोकने की संस्तुति

दुद्धी । नोवेल कोरोना वायरस से निपटने के लिए चल रहे लॉक डाउन के मद्देनजर गांवों के प्राथमिक विद्यालय पर गांव के मजदूर असहायों के लिए चल रहे अन्नपूर्णा किचेन में प्रतिदिन भोजन करने वालों की सूचना नही देने के कारण खण्ड शिक्षा अधिकारी आलोक कुमार ने कड़े कदम उठाते हुए सम्बन्धित प्रभारियों का वेतन रोकने की संस्तुति की है जिससे ग्राम पंचायत अन्नपूर्णा किचेन प्रभारियों में हड़कंप मच गया है ।खण्ड शिक्षा अधिकारी आलोक कुमार ने बताया कि नोवेल कोरोना वायरस महामारी के कारण ग्राम पंचायत स्तर पर अन्नपूर्णा किचेन स्थापित किया गया है ।जिसमें गांव के गरीब मजदूर भोजन करते हैं ।सुबह और शाम भोजन करने वालों की सूचना प्रतिदिन प्रभारी अध्यापकों द्वारा दिया जाना है लेकिन ब्लॉक क्षेत्र के 11 विद्यालयों के ग्राम पंचायत अन्नपूर्णा किचेन प्रभारियों ने भोजन करने वालों की सूचना नही दी है जिस पर कार्यवाई करते हुए अग्रिम आदेश तक वेतन रोकने की संस्तुति जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को की गई हैं ।सूचना नही देने पर वेतन रोकने की संस्तुति करने वालों में प्राथमिक विद्यालय मझौली, प्राथमिक विद्यालय झारो कला ,प्राथमिक विद्यालय रहिलवा डी टोला करम डाड़, प्राथमिक विद्यालय कनकोडवा, प्राथमिक विद्यालय गुलालझरिया, प्राथमिक विद्यालय हीराचक, प्राथमिक विद्यालय फुलवार,प्राथमिक विद्यालय डुमरा, प्राथमिक विद्यालय हरपुरा द्वितीय, प्राथमिक विद्यालय महुअरिया तथा प्राथमिक विद्यालय पनिकाटोला टेढ़ा शामिल है।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!