एम्स के डॉक्टर में भी मिला कोरोना वायरस, परिवार के सदस्यों की भी होगी जांच

दिल्ली स्थित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) के फिजियोलॉजी विभाग के एक रेजिडेंट डॉक्टर में COVID-19 वायरस की पुष्टि हुई है। एम्स के सूत्रों के अनुसार कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए डॉक्टर को आगे की जांच और कई अन्य टेस्ट के लिए एक निजी वार्ड में भर्ती कराया गया है। उनके परिवार की भी जांच होगी।

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने गुरुवार को बताया कि राजधानी में COVID-19 वायरस से संक्रमित और संदिग्ध मरीज मिलाकर कुल 700 लोग दिल्ली के विभिन्न अस्पतालों में भर्ती हैं। सत्येंद्र जैन ने कहा कि दिल्ली में बुधवार शाम तक कोरोना वायरस के 152 पॉजिटिव केस हैं। इसमें से 53 केस मरकज के हैं। दिल्ली में कल 32 लोगों का आंकड़ा बढ़ा है, जिसमें 29 लोग निजामुद्दीन में तबलीगी जमात कार्यक्रम में शामिल हुए थे। दिल्ली में अभी 700 के करीब कोरोना पॉजिटिव और संदिग्ध मामले हैं। आज भी काफी लोगों की रिपोर्ट आएगी, जिसके बाद मामले और बढ़ने की आशंका है। इनमें मरकज के लोग ही ज्यादा हैं।

ज्ञात हो कि देश और दिल्ली में तेजी से पैर पसार रहे कोरोना वायरस ने अब डॉक्टरोंं को भी अपनी चपेट में लेना शुरू कर दिया है। बुधवार को दिल्ली राज्य कैंसर संस्थान की एक डॉक्टर में कोविड-19 वायरस की पुष्टि होने के बाद सफदरजंग अस्पताल के दो रेजिडेंट डॉक्टर भी COVID-19 वायरस से संक्रमित पाए गए थे।

सफदरजंग अस्पताल के COVID-19 वायरस से संक्रमित पाए गए दोनों डॉक्टरों में एक पुरुष डॉक्टर है जो COVID-19 यूनिट में तैनात है और एक महिला डॉक्टर है जो PG की तीसरी साल की बायोकेमिस्ट्री विभाग की छात्रा है। अधिकारियों के अनुसार उसने विदेश की यात्रा की है।

दिल्ली राज्य कैंसर संस्थान को एक डॉक्टर के कोरोना वायरस से संक्रमित पाए जाने के बाद सैनेटाइजेशन के लिए एक दिन के लिए बंद कर दिया गया था। कोरोना वायरस से संक्रमित पाई गई डॉक्टर इसी संस्थान में काम करती है।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!