“आप जैसा सोचते हैं वैसा बन जाते हैं” पढ़िए स्वामी विवेकानंद के शक्तिशाली विचार

स्वामी विवेकानंद जयंती यानी राष्ट्रीय युवा दिवस के मौके पर आज देशभर में विभिन्न कार्यक्रम किए जा रहे हैं। स्वामी विवेकानंद को लोग आज याद कर रहे हैं और उन्हें अपनी श्रद्घांजिल अर्पित कर रहे हैं।

स्वामी विवेकानंद भारत के महानतम धर्म गुरुओं में से एक हैं। स्वामी विवेकानंद का जीवन और उनका संदेश व प्रवचन दुनिया के लाखों लोगों को प्रभावित किया है। वह विद्वता और प्रेरणा के बड़े श्रोत माने जाते हैं। वह अपने धार्मिक ज्ञान से किसी के भी दिल में जगह बनाने और अपने शक्तिशाली विचारों तर्कयुक्त विचारों से किसी सोचने का नजरिया बदलने की क्षमता रखते थे। उनकी इसी प्रभावशाली आभा और दुनिया में भारत की एक अलग पहचान बनाने के लिए देश उन्हें उनकी जयंती पर नमन करता है। स्वामी विवेकानंद की जयंती को राष्ट्रीय युवा दिवस के रूप में भी मनाया जाता है। इसे मौके पर उप राष्ट्रपति वेंकैया नायडू और पदुच्चेरी की उपराज्यपाल किरण बेदी ने उन्हें श्रद्धांजलि दी है।

इस मौके पर लोग सोशल मीडिया पर स्वामी विवेकानंद जी के प्रेरणादायी विचार, क्वेट्स और फोटो शेयर कर रहे हैं। यहां हम स्वामी विवेकानंद के कुछ अमर विचारों को आपके साथ साझा कर रहे हैं जो लोगों को एक अलग ऊर्जा का संचार करने की क्षमता रखते हैं।

“आप जैसा सोचते हैं वैसा बन जाते हैं”
(इसका मतलब हम जो कुछ भी हैं वह अपने विचारों की देन हैं, इसलिए इस बात का बहुत ध्यान रखें कि आप क्या सोच रहे हैं। शब्दों का निर्माण विचारों के बाद होता है, विचार जीवित रहते हैं और दूर तक जाते हैं)

“दुढ़ता ही सफलता की कुंजी है”
यदि आप सफल होना चाहते हैं तो आपके अंदर एक जबरदस्त दृढ़ इच्छाशक्ति होनी चाहिए। मैं पूरा समुद्र पी जाऊंगा’ ऐसा कोई दृढ़ आत्मा की कह सकती है। या मैं जिधर चाऊंगा पहाड़ उधर हो ही खिसकेगा। आपके भीतर ऐसी ही दृढ़ ऊर्जा और इच्छाशक्ति होनी चाहिए। किसी के भीतर ऐसा संकल्प हो और वह कठिन परिश्रम करे तो किसी भी मुश्किल लक्ष्य को भेद सकता है।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...