भीषण ठंड से पशुओं के बीमार होने का खतरा

संजीव कुमार पांडेय (संवाददाता)

राजगढ़ । मौसम के लगातार परिवर्तन होने से ठंड बहुत तेजी से बढ़ गई है। जिससे पशुओं में विभिन्न प्रकार के बीमारियाँ लगने का खतरा बढ़ गया है।
पशु विभागीय के अनुसार इस समय कोल्ड इन्फेक्शन बहुत तेजी से फैल रहा है। इस वजह से पशु रखने वालों को बेहद ख्याल रखना पड़ेगा। इस समय मामूली बुखार भी बीमारी का लक्षण हो सकता है, ख्याल न रखने से पशुओं की मौत हो सकती है। इस मौसम में पशुओं को हल्का बुखार आता है, जिससे वह सिकुड़ने लगते हैं। इसके वजह से वह खाना पानी सब छोड़ देते हैं। पशु जुगाली करने लगते हैं, पशुओं का खुर फट जाता है, थोड़ा-थोड़ा पेशाब हो जाता है तथा पशुओं में दांत पीसने की प्रक्रिया चालू हो जाती है।

इस संबंध में जब राजगढ़ पशु चिकित्सा अधिकारी डॉ0 मुसद्दर अली ने बताया कि “इस मौसम में पशुओं में छोटी से छोटी बीमारी होने पर तत्काल चिकित्सकों से परामर्श लें, क्योंकि बीमारी जटिल होने पर उपचार संभव नहीं है जिससे पशुओं की मौत हो सकती है। पशुपालक पशुओं की सुबह-शाम पशुओं को अंदर बाहर करने पर बोरे की चाट उनके शरीर पर ढक दें। पशुओं के रहने वाले स्थान पर साफ सफाई की व्यवस्था अच्छे तरीके से कर ले। ठंड के मौसम में पशुओं को गुड जरूर खिलाएं। पशुओं को सोने के लिए पुआल अवश्य बिछा दे। थोड़ी सी सर्तकता से पशुओं को बीमारियों से बचाया जा सकता है।”



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!