विंध्य कारिडोर के निर्माण से पूर्व 40 भू-स्वामियों ने दर्ज कराया आपत्ति

राजीव दुबे (संवाददाता)

विंध्याचल । सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ के ड्रीम प्रोजेक्ट माँ विंध्यवासिनी धाम में जो विकास का खाका तैयार कर रखा है। उसको लेकर उत्तर प्रदेश शासन की मंशा के अनुसार विंध्य कारीडोर योजना के तहत जिलाधिकारी सुशील कुमार पटेल के निर्देश पर परिक्रमा पथ के बाद चार गलियों के कुल 202 भू स्वामियों को मूल्य दिखाने के लिए गुरुवार एवं शुक्रवार को बहु स्वामियों को मूल्य दिखाया जाना था। जिसके तहत गुरुवर को एक मात्र शिकायत दर्ज़ हो सका था लेकिन आज 10 बजे से शाम 4 बजे तक विंध्याचल स्टेट बैंक चौराहा स्थित प्रशासनिक भवन में तहसीलदार ओमप्रकाश पांडेय एवं राजस्व कर्मियों द्वारा भवन स्वामियों को मूल्य दिखाया गया। जिसमें 40 लोगों ने अपने जमीन के मुआवजे और सही नाम के लिए अपना आपत्ति दर्ज़ कराया। मां विंध्यवासिनी मंदिर के समीप पक्का घाट गली, पुरानी वीआईपी, नई वीआईपी एवं कोतवाली गली के भू स्वामियों का मूल्यांकन कराया गया।

चारों गलियों के कुल 202 भू स्वामियों में से 84 लोगों ने गुरुवार को अपनी संपत्ति का मूल्यांकन किया था और सिर्फ एक शिकायत दर्ज़ हो सका था लेकिन शुक्रवार को सुबह 10 बजे से शाम 4 बजे तक 40 लोगों ने अपना शिकायत दर्ज़ कराया। तहसीलदार ओमप्रकाश पांडेय ने बताया कि बृहस्पतिवार को लोग अपने संपत्ति का मूल्य देख रहे थे और आज कुल 40आपत्ति आया है। देखने के पश्चात भवन स्वामी लगाए गए सरकारी मूल्य से खासा नाराज दिखे एवं इस मूल्य पर समझौता न करने की बात भी कही गई। इस दौरान लेखपाल अरुण तिवारी, पीडब्लूडी सहित राजस्व कर्मी मौजूद रहे।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!