जी5 पर आई नई वेब सीरीज ‘रंगबाज फिर से’ एक सच्ची कहानी पर आधारित है,पढ़े रिव्यू

राजस्थान के गांव का लड़का जो पढ़ना चाहता है आईपीएस बनना चाहता है लगातार तैयारी करता है नंबर भी लगभग आ ही जाता है लेकिन उसके साथ कुछ ऐसा होता है कि सारे रास्ते बदल जाते हैं वह लड़का आगे चलकर राजस्थान का सबसे बड़ा बाहुबली बनता है नाम, अमरपाल सिंह. जी5 पर आई नई वेब सीरीज ‘रंगबाज फिर से’ एक सच्ची कहानी पर आधारित है जिसमें मुख्य किरदार निभा रहे हैं जिम्मी शेरगिल. इस कहानी में मारधाड़ है. एक्शन है राजनीतिक ड्रामा है और सब कुछ है जो एक मसाला वेब सीरीज में होना चाहिए. सोशल मीडिया पर इसकी काफी चर्चा है कुछ सीन व डायलॉग काफी वायरल भी हो रहे हैं ऐसे में देखते हैं आखिर खास क्या है…

क्या हैं कहानी वेब सीरीज की?

वेब सीरीज की कहानी राजस्थान की असली कहानी है राजस्थान के कुख्यात डॉन और शराब तस्कर आनंदपाल सिंह के जीवन से प्रभावित यह कहानी वहां की जातिगत राजनीति और उसके प्रभाव पर आधारित है. सीरीज में आनंदपाल सिंह का किरदार निभा रहे हैं जिम्मी शेरगिल जिनका नाम बदलकर अमरपाल सिंह कर दिया गया है. उनके साथ है सुशांत सिंह जो उनके दोस्त का किरदार निभा रहे हैं, उसके अलावा कई ऐसे मुख्य किरदार हैं जो आपको राजस्थान की राजनीति से जोड़ते हैं. अमरपाल किस तरह एक पढ़ाई वाला लड़का बनना छोड़ गुंडागर्दी में आता है, राजनीति में उतरता है, शराब का सबसे बड़ा तस्कर बन जाता है. उसके जीवन में उतार-चढ़ाव आते हैं वहां से लेकर और जब उसका एनकाउंटर होता है सीरीज में पूरी कहानी दिखाई गई है.

काम किसका बढ़िया है?

जिम्मी शेरगिल, ये नाम याद आते ही सबको मोहब्बतें फिल्म याद आ जाती है जिसमें जिम्मी एक चॉकलेटी बॉय की तरह उभर कर आते हैं. उसके बाद हाल ही में वह पंजाबी फिल्मों में काफी एक्टिव रहें लेकिन जिम्मी शेरगिल का इस सीरीज में किरदार काफी शानदार है. रुतबे वाला लुक जो एक गैंगस्टर में दिखाने की कोशिश की गई है, वह काफी सूट करता है. हल्की बढ़ी हुई दाढ़ी के साथ वह बोली राजस्थान की दिखाई पड़ती है, राजपूताना अंदाज जो दिखाने की कोशिश की गई है वो निभाने में कामयाब रहे हैं.

कुछ लोग भले ही उसकी शिकायत कर सकते हैं, लेकिन पंजाब से आए हुए गबरु जवान ने पर्दे पर जो उतारा है वह काफी शानदार लगता है. जिम्मी के बाद इस सीरीज में जो सबसे ज्यादा देखे गए हैं वह है सुशांत सिंह. एक जाट की भूमिका में नजर आए, जो अमरपाल सिंह के दोस्त हैं. सुशांत ने सीरियस में अक्सर जाट वाला लुक बहुत शानदार तरीके से पकड़ा, कई जगह उनकी बोली खटकती है जो प्रॉपर हरियाणा के जाट से नहीं मैच करती है. लेकिन एक देहाती लुक उनके द्वारा जो निभाया गया है उसमें काफी बहुत सूट करते हैं.

बाहुबली में अपनी आवाज देकर छा जाने वाले शरद केलकर ने भी इस सीरीज में एक अहम किरदार निभाया है वह विलेन के किरदार में हैं और ताकतवर रुतबे के रूप में अच्छे से काम किया है. इसके अलावा सीरीज में गुल पनाग भी है उनका बहुत लिमिटेड रोल है लेकिन जितना भी रोल है उसमें सूट करती हैं जैसा कि इससे पहले ‘द फैमिली मैन’ में दिखा था.

एक गैंगस्टर वॉर की कहानी के रूप में सीरीज लगभग पूरी ही लगती है, लेकिन अगर निचोड़ कर गड़बड़ कहीं निकालने की कोशिश करें तो सिर्फ कुछ हिस्से ऐसे आते हैं जहां साथ छूटता लगता है. मसलन ये दूसरे एपिसोड में थोड़ी भटकती है, हालांकि बाद में रफ्तार पकड़ना शुरू भी होती है. इसके अलावा सीरीज में कई बार डबल टाइमिंग को एक साथ दिखाने की कोशिश की गई है जो थोड़ा कंफ्यूज करती है. हालांकि लोकेशन और भाषा के स्तर पर काम बेहतर ही हुआ है.

इस सीरीज का निर्देशन सचिन पाठक ने किया है जो इससे पहले दृश्यम में बतौर असिस्टेंट डायरेक्टर की भूमिका निभा चुके हैं. उनके डायरेक्शन की सीरीज में वापसी है और एक बेहतरीन ड्रामा सीरीज के तौर पर उभर कर आती है. खास बात यह भी है कि इसमें कोई भी ऐसा अश्लील सीन नहीं है जिसे देखने में आप झिझके, हालांकि कुछ जगह गाली गलौज का इस्तेमाल जरूर हुआ है लेकिन वह सीन के हिसाब से सही लगता है.


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...