CAA के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान हुई हिंसा पर अखिलेश यादव बोले- दंगा कराने वाले लोग सरकार में बैठे हैं

उत्तर प्रदेश में नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान हुई हिंसा पर समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा कि दंगा कराने वाले लोग सरकार में बैठे हैं। अखिलेश यादव ने कहा है कि सरकार ने माहौल बिगाड़ा है ।रोजगार नहीं दे सकते तो माहौल खराब कर रहे हैं । अखिलेश यादव ने कहा है कि सरकार ने शांतिपूर्ण आंदोलन को दबाया लेकिन जनता लोकतंत्र को बचाने के लिए खड़ी रहेगा ।

यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने यूपी में जारी हिंसा को लेकर राज्य सरकार पर जोरदार हमला किया है । अखिलेश ने कहा है कि दंगा कराने वाले लोग सरकार में बैठे हैं । उन्होंने कहा कि दंगों का फायदा सरकार को ही मिलेगा । अखिलेश ने कहा कि बीजेपी जानबूझकर नफरत फैला रही है और लोगों को डरा रही है । ये सरकार सभी मुद्दों पर फेल रही है।

अखिलेश ने कहा कि नागरिकता साबित के लिए गरीब कहां से कागज लाएंगे, ऐसे तमाम लोग हैं जिनके पास कागज नहीं है । अखिलेश ने कहा कि अगर किसी ने माहौल बिगाड़ा है तो वो सरकार ने बिगाड़ा है । क्या मुख्यमंत्री की भाषा ऐसी हो सकती है? नौकरी और रोजगार नहीं दे सकते हैं तो माहौल खराब कर दिया । अखिलेश ने कहा कि सरकार माहौल बिगाड़ने में लगी है । उन्होंने कहा कि ये सरकार NRC के सपोर्ट में कभी भी नहीं हो सकती है । भारत ने सभी को पनाह दी है, अब हम दुनिया में क्या मुंह दिखाएंगे ।

इससे पहले अखिलेश यादव ने कहा था कि समाजवादी पार्टी नागरिकता संशोधन अधिनियम और एनआरसी के पक्ष में नहीं है।उसका हर स्तर पर विरोध किया जाएगा । उन्होंने कहा कि लोकतंत्र में विरोध प्रदर्शन जनता का अधिकार है, लेकिन उसमें हिंसा का कोई स्थान नहीं हो सकता है । शांतिपूर्ण एवं अहिंसात्मक ढंग से ही अपनी बात रखनी चाहिए ।

अखिलेश यादव ने पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा है कि वे सामाजिक सद्भाव बनाने और आपसी भाईचारा कायम रखने के लिए जनता के बीच जाएं और उनसे सम्पर्क बनाकर समाजवादी पार्टी का पक्ष रखें । वे किसी के बहकावे में नहीं आएं. समाजवादी पार्टी लोकतांत्रिक विरोध की पक्षधर है और उसकी मांग है कि किसी के साथ अन्याय न किया जाए । सरकार द्वारा निर्दोषों को फंसाने की साजिश नहीं होनी चाहिए।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!