कान्हा ने कालिया के साथ अत्याचारी कंस का भी किया मान मर्दन

रमेश यादव ( संवाददाता )

दुद्धी । श्रीरासलीला आयोजन समिति दुद्धी द्वारा आयोजित श्री रासलीला के लीला मंचन के क्रम में चौथे दिन गुरुवार को भगवान श्रीकृष्ण द्वारा कालिया नाग के मान मर्दन की लीला का मंचन हुआ।
अत्याचारी कंस को जब पता चला कि उसका काल ब्रज में है तो उसने ब्रज के उन सभी बालकों को मारने की योजना बनायी जिनका जन्म भादो अष्टमी के दिन या आस पास हुआ था। जब कंस ने अनेक उपाय किया फिर भी वो ब्रज के किसी भी बालक को कोई क्षति नही पहुचा पाया तो उसे यकीन हो गया कि इस सब के पीछे कान्हा का ही हाथ है और वो ही उसका काल प्रतीत हो रहा है। ऐसी ही बातों से श्री कृष्ण को मारने के उद्देश्य से उसने ब्रज में रंगेश्वर महादेव के पूजन हेतु यमुना जी से एक कोटि कमल फूल की मांग नंद बाबा से की कि यदि कमल फूल समय से नही आया तो परिणाम अच्छा नही होगा। यमुना जी में ये वही स्थान है जहाँ असंख्य कमल फूल पाए जाते हैं और उस स्थान पर भयंकर बिषधारी कालिया नाग निवास करता है। ये सूचना पाकर पूरे ब्रज में चिंता हो गयी कि अब क्या होगा।
उधर जब ये बातें कान्हा को पता चली तो उन्होंने इसका उपाय सोच कर एक योजना बनाई। अपने बाल मित्र मंडली के साथ गेंद खेलने व कालिया का मर्दन का उद्धार करने हेतु लीला की। खेल खेल में गेंद को यमुना जी के अंदर फेक दिया और ग्वालों के द्वारा गेंद मांगे जाने पर गेंद लेने हेतु यमुना जी मे कूद गये। ये समाचार जब बाबा नंद व माता यशोदा ने सुना तो उनके दुःख की कोई सीमा नही रही।
उधर गेंद लेने गये कालिया दह में कान्हा की भेंट कालिया नाग से हुई और भयंकर युद्ध हुआ अंत मे भक्त वत्सल भगवान श्रीकृष्ण ने उस विषधारी कालिया नाग का मान मर्दन कर उद्धार किया। श्रीकृष्ण जी के आदेश से कालिया नाग यमुना जी को छोड़कर दूसरे स्थान पर चल गया और भेंट स्वरूप श्रीकृष्ण जी को एक कोटि कमल फूल भी दिया जिसे बाबा नंद ने उन फूलो को राजा कंस के पास भेजवा दिया। इस प्रकार कान्हा ने कालिया के मान मर्दन के साथ राजा कंस के अभिमान का भी पुनः मर्दन किया।
श्री रासलीला आयोजन समिति द्वारा आयोजित श्रीरासलीला में दुद्धी कस्बे के श्रद्धालुओं के अलावा आस पास गाँवो के भी श्रद्धालु दर्शक उपस्थित रहे। प्रातः काल मे हो रहे लीला में चैतन्य महाप्रभु की लीला का मंचन हुआ। आयोजन समिति ने सभी श्रद्धालुओं को उनकी उपस्थिति के लिए आभार व्यक्त किया है और श्री रासलीला आयोजन में सादर सहयोग की अपेक्षा की है।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!