समूह गठन के लिए गैर जनपद में भेजी गयी आईसीआरपी टीम

आनन्द कुमार चौबे (संवाददाता)

सोनभद्र । राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत जरूरतमंद महिलाओं के समूह बनाकर उन्हें स्वरोजगार दिया जाता है। आदिवासी बाहुल्य जनपद सोनभद्र पूरे सूबे में एकमात्र ऐसा जनपद बना है, जहाँ की स्वयं सहायता समूह की महिलाएँ गैर जनपद में जाकर महिलाओं को स्वावलम्बी बनने हेतु जागरूक करेंगी और समूह गठन में मदद करेंगी। इसी क्रम में आज विकास खण्ड चोपन से टीम बनाकर आईसीआरपी एवं सिनीयर आईसीआरपी ड्राइव की टीम बनाकर गैर जनपद के विभिन्न विकास खण्डों में भेजा गया है।

सहायक विकास अधिकारी (उद्योग)राजेश सिंह ने बताया कि “यह टीम पहले समूह बनाने के लिये बिहार या दुसरे राज्यों से मंगायी जाती थी लेकिन अब हमारे चोपन ब्लाक में यह कैडर विगत दो वर्षों से तैयार कर लिया गया है और यह कैडर राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन द्वारा संचालित समूह गठन का कार्य करती हैं‌।”

मिशन मैनेजर रोहित मिश्रा ने बताया कि “जनपद सोनभद्र के विकास खण्ड चोपन के लिये यह गर्व की बात है कि यहाँ से दूसरे जनपद मे महिलाओं को भेजा जा रहा है क्योंकि यह जनपद अति पिछड़ा जनपद होने के बावजूद भी यहाँ कि महिलाएं गैर जनपद की महिलाओं को प्रशिक्षित करने के लिये जा रही है। यह विकास खण्ड चोपन के लिये गौरव की बात है पूर्व में यह ड्राइव अपने जनपद सोनभद्र के भी ब्लाकों मे समूह गठन अौर ग्राम संगठन गठन के लिये भेजी गयी थी। जब समूह बन जाता है तो समूह बनने के छ माह बाद समूहों को मिलाकर ग्राम संगठन बनाना होता है।”

इस अवसर पर ब्लॉक मिशन मैनेजर नगेन्द्र कुमार, वसीम अख्तर, अशोक कुमार, सुभाष कुमार, राजीव कुमार, प्रविण दयाल, कुश कुमार उपस्थित रहे।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!