नागरिकता कानून के विरोध में देश की राजधानी में हिंसा, बवाल व आगजनी, साउथ ईस्ट जिले में स्कूल बंद रखने का आदेश

नागरिकता कानून के विरोध में देश की राजधानी दिल्ली में प्रदर्शनकारियों ने हिंसा को अंजाम दिया । इस दौरान दिल्ली के जामिया और न्यू फ्रैंड्स कॉलोनी में आगजनी भी देखी गई। वहीं हिंसक हालात को देखते हुए सरकार ने सोमवार को दिल्ली के साउथ ईस्ट जिले में स्कूल बंद रखने का आदेश दिया है ।

दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने स्कूल बंद रखने की जानकारी दी है । ट्वीट कर उन्होंने कहा, ‘दिल्ली में साउथ ईस्ट जिले में ओखला, जामिया, न्यू फ्रैंड्स कॉलोनी, मदनपुर खादर क्षेत्र के सभी सरकारी और प्राइवेट स्कूल कल बंद रहेंगे ।वर्तमान हालात को देखते हुए दिल्ली सरकार ने स्कूल बंद रखने का निर्णय लिया है।’

नागरिकता बिल पर दिल्ली में हिंसा भड़क गई । इस दौरान भीड़ ने 3 बसों में आग लगा दी और पथराव में दो दमकलकर्मी घायल हो गए । नागरिकता कानून के विरोध में लगातार तीसरे प्रदर्शन किया गया । नागरिकता कानून के विरोध में प्रदर्शन के आयोजक रविवार को हिंसक हो गए और जामिया नगर इलाके में सराय जुलेना के निवासियों की पुलिस से झड़प हुई ।

हालात तब गंभीर हो गई जब प्रदर्शनकारियों ने एक बस को आग लगा दी और पुलिस ने कार्रवाई शुरू कर दी । प्रदर्शनकारियों व पुलिस के बीच टकराव के दौरान पथराव से एक फोटोग्राफर घायल हो गया । इस आगजनी और विवाद से आश्रम से फ्रेंडस कॉलोनी और कालिंदी कुंज तक दक्षिण दिल्ली क्षेत्र में भारी ट्रैफिक जाम लग गया ।पुलिस ने आसपास के इलाके से ट्रैफिक को डायवर्ट किया ।

प्रदर्शनकारियों ने मथुरा रोड के विपरीत न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी के दोनों रास्तों को जाम कर दिया। दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने ट्वीट किया कि ओखला अंडरपास से सरिता विहार के लिए आवाजाही बंद है ।

डीसीपी चिन्मय बिस्वाल के मुताबिक कानून-व्यवस्था बनाने के लिए हमने उग्र भीड़ को तितर-बितर किया है । कैंपस के अंदर से हम पर पथराव किया गया. प्रॉक्टर को जांच करनी चाहिए कि कौन लोग हैं जिन्होंने हम पर पथराव किया है । अभी हालात सामान्य है । कुछ लोगों को हिरासत में लिया गया है । 4 हजार से पांच हजार लोग सुबह से प्रदर्शन कर रहे थे ।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!