छुट्टा पशुओं ने स्कूलों में डाला डेरा

अबुलकैश डब्बल

* छुट्टा पशु फसल को कर दे रहे बर्बाद

धानापुर। शासन द्वारा जहां छुट्टा पशुओं को पकड़कर पशु आश्रय केंद्रों में रखे जाने का स्पष्ट निर्देश है। लेकिन अब भी बड़ी संख्या में छुट्टा पशु किसानों को नुकसान पहुंचा रहे हैं। किसानों ने जब उन्हें एक खेत से दूसरे खेत मे भगाना शुरू किया तो छुट्टा पशुओं ने खेत खलिहान छोड़ अब अलग अलग स्कूलों में डेरा डाल दिया है। क्षेत्र के हिंगुतरगढ़ गांव स्थित परिषदीय प्राथमिक विद्यालय में 13 तथा अमर शहीद हीरा सिंह माध्यमिक विद्यालय में 11 सहित कुल 23 छुट्टा पशुओं ने डेरा डाल रखा है। यही हाल क्षेत्र के अन्य स्थानों का है। अब तक छुट्टा पशुओं के कारण रमेश सिंह का एक एकड़ मटर व टमाटर तथा 2 एकड़ गेंहू, की फसल तहस नहस कर दिया है। पिछले एक पखवाड़े के अंदर लगभग दर्जनों एकड़ हरे भरे खेत छुट्टा पशु चर गए हैं। किसानों ने छुट्टा पशुओं को पकड़कर पशुआश्रयशालाओं में भेजने को लेकर कभी प्रधान व सेक्रेटरी से, तो कभी एडीओ पंचायत और बीडीओ से गुहार लगाई। लेकिन किसी ने उनकी समस्या दूर करने की कोई पहल करने की बजाय सभी ने अपनी जिम्मेदारियों से पल्ला झाड़ लिया और आराम से खिसक लिए। इससे परेशान हो किसान खेतों में चर रहे छुट्टा पशुओं को खुद ही एक खेत से दूसरे खेत मे भगाने के लिए निकल पड़े। किसानों की ऐसी सक्रियता देख बड़ी संख्या में छुट्टा पशुओं ने रिहायशी झोपड़ियों, सार्वजनिक भवनों तथा सरकारी स्कूलों में डेरा डाल दिया है। ग्रामीणों ने जिलाधिकारी तथा क्षेत्रीय जनप्रतिनिधियों का इस ओर ध्यान आकृष्ट कराते हुए इस समस्या पर प्रभावी कदम उठाए जाने की मांग की है।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!