अवैध खनन में दोषी ट्रैक्टर सरकारी सम्पति घोषित

धर्मेन्द्र गुप्ता (संवाददाता)

★ 1अगस्त को बालू के अवैध खनन में पकड़ा गया था उक्त ट्रैक्टर, रेंजर के रिपोर्ट पर हुई कार्रवाई

विंढमगंज । विंढमगंज रेन्ज के जोरुखाड़ गांव का एक ट्रैक्टर बालू के अबैध खनन में दोषी पाते हुए आज प्रभागीय वनाधिकारी रेनुकूट ने उक्त ट्रेक्टर को सरकारी सम्पति घोषित कर दिया।जिससे इलाके के अवैध खनन कर्ताओं में खलबली मची हुई है।
विंढमगंज वन रेन्ज के जोरुखाड़ गांव के मलिया नदी के सुरक्षित वन छेत्र से 1अगस्त 2019 को अवैध बालू खनन कर गांव का ही भगवान दास यादव पुत्र रघुनाथ का ट्रैक्टर मय ट्राली जोरुखाड़ से फुलवार की तरफ आ रही थी कि रेन्ज के सुइछत्तान बिट प्रभारी सूबेदार भार्गव व आदेश पालक सुनील कुमार दोनो लोग गस्त पर थे तभी उक्त ट्रैक्टर अवैध बालू मय ट्राली के साथ मौके पर मिल गया।उक्त ट्रैक्टर को जैसे ही वनकर्मियों द्वारा रोका गया तो ट्रैक्टर चालक ट्रैक्टर छोड़कर फरार हो गया। जिस पर वनकर्मियों द्वारा उक्त ट्रैक्टर को विंढमगंज रेन्ज परिसर में लाकर उक्त ट्रैक्टर के खिलाफ भारतीय वन अधिनियम 1927(यथा संसोधित 2000)की धारा 5/26,69,41/42,व 3/28के तहत कारवाही किया गया था।जिसे ट्रैक्टर मालिक व चालक द्वारा कार्यवाही के तीन महीना बाद भी पकड़े गए अवैध बालू को वैध कागजात प्रस्तुत नही किया जा सका।जिससे प्रभागीय वनाधिकारी रेनुकूट एम पी सिंह की अदालत ने आज जोरुखाड़ गांव के ट्रैक्टर भगवान दास यादव पुत्र रघुनाथ का ट्रैक्टर संख्या यू पी 64 यू 3070 मय ट्राली व बालू को राज्य सरकार के पक्ष में अधिहरित करते हुए राजकीय सम्पति घोषित कर दी गई।

क्षेत्रीय वन अधिकारी विंढमगंज विजेंद्र कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि अब जो भी वाहन वन अधिनियम के उलंघन में पकड़ी जायेगी उस पर राज्य सरकार के पक्ष में अधिहरड्ड की कार्यवाही सुनिश्चित की जाएगी।जिससे इलाके के अवैध खननकर्ताओं में खलबली मची हुई है।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!