दिल्ली NCR में प्रदूषण से लोगों का जीना हुआ मुश्किल, प्रशासन ने पराली जलाने को बताया वजह

दिल्ली एनसीआर में फिलहाल प्रदूषण से राहत मिलती नहीं नजर आ रही है । दिल्ली-एनसीआर में एक बार फिर हवा जहरीली हो गई है, कल के मुकाबले आज प्रदूषण कम है लेकिन बेहद खतरनाक स्तर पर बना हुआ है । फिलहाल हवा की गुणवत्ता बेहत खतरनाक स्थिति में बनी हुई है ।

दिल्ली से सटे ग्रेटर नोएडा में आज सुबह एक्यूआई 458 पहुंच गया । नोएडा में 472 और फरीदाबाद में यह बढ़कर 441 पर पहुच गया । राजधानी दिल्ली में कल रात लोधी रोड इलाके में PM 2.5 500 जबकि PM 10 497 दर्ज की गई जो कि हमारे और आपके लिए बेहद खतरनाक है । प्रदूषण की वजह से दिल्ली एनसीआर के लोगों का घर से बाहर आना मुश्किल हो गया है।

प्रदूषण के खतरनाक स्तर तक पहुंच जाने से लोग एलर्जी, आंखों में जलन और खुजली सहित कई तरह की समस्याएं लेकर उनके पास पहुंच रहे हैं । आंख रोगियों की संख्या में तेजी से इजाफा देखा जा रहा है । वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 201-300 के बीच ‘खराब’, 301-400 के बीच ‘अत्यंत खराब’, 401-500 के बीच ‘गंभीर’ और 500 के पार ‘बेहद गंभीर’ माना जाता है । बता दें कि दिवाली के बाद दिल्ली और उसके आसपास के इलाकों में एक्यूआई करीब 1000 के करीब पहुंच गया था ।


सर्दियों के आगाज के साथ ही, न्यूनतम तापमान में गिरावट से हवा में ठंडक बढ़ गई है और भारीपन आ गया है, जिससे प्रदूषक तत्व जमीन के निकट जमा हो रहे हैं । भारतीय मौसम विभाग के क्षेत्रीय मौसम पूर्वानुमान केंद्र के प्रमुख कुलदीप श्रीवास्तव ने कहा कि हवा की गति में कमी आने के चलते प्रदूषण का स्तर बढ़ा है । उन्होंने बताया कि पंजाब और हरियाणा में पराली जलाने में बढ़ोतरी हुई है, जिसका असर भी दिल्ली-एनसीआर में देखने को मिल रहा है ।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!