दुपट्टे के सहारे झूल किशोरी ने समाप्त की जीवनलीला

धर्मेन्द्र गुप्ता (संवाददाता)

-माँ सुबह ही अपने मायके चली गई थी और घटना के वक्त पिता शौच के लिए निकला था

विंढमगंज। थाना क्षेत्र के पोलवा गांव में सोमवार को सुबह करीब साढ़े दस बजे खुशबू (17वर्ष) पुत्री रामप्रताप भुइंया ने पक्का मकान में रोशनदान में लगी लोहे की कील में दुपट्टे का फंदा डाल कर फांसी पर झूल गयी। घटना के समय पिता शौच के लिए बाहर गया हुआ था और माँ घटना के दिन सुबह ही झारखंड स्थित अपने मायके चली गई थी। शौच के बाद लौटने पर पिता राम प्रताप भुइंया ने दरवाजा अंदर से बंद पाया। काफी देर तक दरवाजा खटखटाने के बाद भी नहीं खुलने पर उसने खिड़की से झांका तो अंदर का दृश्य देखकर स्तब्ध रह गया।

आनन फानन में परिजन रोशनदान की ओर से किसी तरह कमरे में दाखिल हुए और अंदर से बंद दरवाजा खोलवाया। परिजनों की सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को फंदे से उतार कर ग्रामीणों की मौजूदगी में शव का पंचनामा करने के बाद उसे पोस्टमार्टम के लिए दुद्धी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र भेज दिया। घटना के विषय में घर के लोग कुछ भी कहने से परहेज करते रहे। पिता रामप्रताप भुइंया ने बताया कि घटना के दिन सुबह मायके जाते समय पत्नी उसे अपने साथ ले जाना चाहती थी लेकिन वह साथ नहीं गयी और जब वह शौच के लिए बाहर गया तो इसी बीच उसने फांसी लगाकर आत्महत्या कर लिया। इस सम्बंध में थानाध्यक्ष विंढमगंज के सीयुजी नम्बर से संपर्क नही हो सका।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!