जिनके भरोसे विद्यालय आते हैं बच्चे, अध्यापक खुद रहते हैं गायब

मुकेश अग्रवाल (संवाददाता)

– परिजन त्रस्त, अधिकारी का रटारटाया जबाब, जांच के बाद होगी कार्यवाही

बीजपुर । सरकार सारी सुविधाएं देकर जहाँ परिषदीय विद्यालय की हालत सुधारने में जुटी है, वहीं जिनके भरोसे सरकार यह सपना देख रही है वह खुद विभाग को पलीता लगाने में जुटा हुआ है । हैरान करने वाली बात यह है कि जिनके बच्चे उक्त विद्यालय में पढ़ रहे हैं उनकी कोई सुनवाई नहीं होती । अभिभावक व प्रधान लगातार बघाड़ू प्राथमिक विद्यालय के एक अध्यापक की स्कूल न आने की शिकायत कर रहे हैं लेकिन एबीएसए से लेकर उच्च अधिकारी द्वारा अनसुना कर दिया जा रहा है ।

ग्रामीण बच्चों के भविष्य को सुधारने के लिए हर संभव प्रयास कर रही है वहीं शिक्षा विभाग के जिम्मेदारो की लापरवाही से बच्चों का भविष्य चौपट हो रहा है यह हालात म्योरपुर शिक्षा क्षेत्र के

ग्राम प्रधान श्री राम, बीडीसी सदस्य मुन्नालाल ,शिक्षा समिति के अध्यक्ष उषा देवी एवं ग्रामीणों ने बताया कि ग्राम सभा जरहा के टोला चेतवा के प्राथमिक विद्यालय में 137 बच्चों का नामांकन है जिसमें बुधवार को 119 बच्चे उपस्थित रहे और आजकल बच्चों का अर्धवार्षिक परीक्षा भी चल रहा है ऐसे में विद्यालय पर तैनात सहायक अध्यापक आशीष रंजन गायब है ।इनकी यह शिकायत आज की नहीं बराबर की जा रही है । उनका कहना है कि यदि अध्यापक को गायब ही रहना है तो इस विद्यालय में कोई ऐसे अध्यापक को नियुक्त करना चाहिए जो बच्चों को पढ़ाये । ग्रामीणों का कहना है कि अभी एक महिला शिक्षक के भरोसे व्यवस्था चल रही है ।

लोगों ने जांच कर दोषियों पर कार्यवाही किए जाने की मांग जिलाधिकारी से किया है। इस बाबत जब जिला बेसिक शिक्षाधिकारी गोरखनाथ पटेल से बात की गई तो उनका भी वही रटा रटाया जबाब आया कि जाँच कर सम्बन्धितों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!