हिंदू समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष कमलेश तिवारी की हत्या, सनसनी

शुक्रवार को हिंदू समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व में अखिल भारत हिंदू महासभा के नेता रहे कमलेश तिवारी की दो लोगों ने हत्या कर दी थी। इस घटना के बाद जगह-जगह हंगामा देखने को मिला। कुछ जगहों पर कमलेश के समर्थकों ने दुकानें बंद कराने का भी दबाव बनाया। वहीं, यूपी डीजीपी ओपी सिंह का इस पूरे मामले में कहना है कि हमने घटना की जांच के लिए एसटीएफ को लगा दिया है। साथ ही एक स्मॉल टीम भी गठित की है। जिन लोगों ने हत्या की वे लोग इनके परिचित बताए जाते हैं। वे मिठाई लेकर पहुंचे थे और कमलेश के साथ तकरीबन आधे घंटे तक रुके थे। हमें इस घटना के बाद कई सबूत मिले हैं। हम जल्द ही इस मामले का हम खुलासा कर लेंगे।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हिंदूवादी नेता कमलेश तिवारी हत्या मामले में प्रमुख सचिव (गृह) और डीजीपी ओपी सिंह से पूरी जानकारी मांगी है। इस बात की पुष्टि उनके मीडिया सलाहकार मृत्युंजय कुमार ने की है। उधर, केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह ने यूपी डीजीपी और लखनऊ के डीएम से फोन पर बात की है। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि जरूरी कार्रवाई करते हुए जल्द से जल्द आरोपियों को गिरफ्तार किया जाए।
हत्याकांड के बाद कमलेश तिवारी के घर डेप्युटी सीएम डॉ. दिनेश शर्मा पहुंचे। यहां पर कमलेश के नाराज समर्थकों ने उनके खिलाफ नारेबाजी की, जिसके बाद डॉ. दिनेश शर्मा वहां से वापस लौट गए। उपमुख्यमंत्री ने कहा, ‘पीड़ित परिवार की जो मांग है, उन्हें पूरा किया जाएगा। पीड़ितों को सुरक्षा और मुआवजा दोनों दिया जाएगा। अधिकारियों को जल्द हत्यारों को गिरफ्तार करने के निर्देश दिए गए हैं। पुलिस प्रशासन अपना काम कर रहा है।’

नाथूराम गोडसे का मंदिर बनाने को लेकर चर्चा में रहे

कमलेश तिवारी का विवादों से पुराना नाता था। उन्‍होंने सीतापुर में अपनी पैतृक जमीन पर नाथूराम गोडसे का मंदिर बनाने का ऐलान किया था। राम जन्मभूमि मामले में कमलेश तिवारी सुप्रीम कोर्ट में कुछ दिनों तक हिंदू महासभा की तरफ से पक्षकार भी रहे थे। एक पैगंबर मोहम्‍मद साहब पर विवादित टिप्पणी को लेकर कमलेश तिवारी विवादों में आए थे और उन्‍हें अरेस्‍ट कर लिया गया था। उनके खिलाफ राष्‍ट्रीय सुरक्षा (एनएसए) कानून लगाया गया था।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!