सीरिया पर तुर्की का हमला: 60 हजार से अधिक लोगों ने घर छोड़ा

तुर्की की पूर्वोत्तर सीरिया में की गई कार्रवाई के एक दिन के भीतर 60, 000 से अधिक लोग विस्थापित हुए हैं। यह जानकारी युद्ध की निगरानी कर रहे संगठन सीरियन ऑब्ज़र्वटरी फॉर ह्यूमन राइट्स ने गुरुवार (10 अक्टूबर) को दी। ब्रिटेन से संचालित संगठन ने बताया कि अधिकतर लोग पूर्वी हसाकेह शहर की ओर बढ़ रहे हैं।

संगठन के प्रमुख रामी अब्देल रहमान ने कहा कि सबसे अधिक विस्थापन सीमावर्ती रास-अल अयिन, ताल अब्याद और देरबशिया से हुआ है। उल्लेखनीय है कि अंतरराष्ट्रीय चेतावनी के बावजूद तुर्की समर्थित सीरियाई विद्रोहियों ने बुधवार को कुर्दिश नियंत्रित पूर्वोत्तर सीरिया में बुधवार (9 अक्टूबर) को सैन्य कार्रवाई की। शुरुआत में हवाई हमले और गोलाबारी के बाद लड़ाकों ने इलाके के अहम सीमावर्ती इलाकों में कार्रवाई की।

गौरतलब है कि अंकारा सीरियाई सीमा के 30 किलोमीटर अंदर एक बफर क्षेत्र बनाना चाहता है ताकि 2011 में सीरिया में शुरू गृहयुद्ध के बाद उसकी सीमा में आए 36 लाख शरणार्थियों को वापस भेजा जा सके। मानवतावादी संगठन ने चेतावनी दी कि हालिया घटना से आठ साल से चल रहे संघर्ष में नागरिकों के लिए और घातक स्थिति पैदा हो सकती है।

एक संयुक्त बयान में कहा गया, ”सीरिया- तुर्की सीमा के पांच किलोमीटर के दायरे में 4,50,000 लोग रहे हैं और अगर सभी पक्षों ने संयम नहीं बरता और नागरिकों की सुरक्षा को प्राथमिकता नहीं दी तो उन्हें सबसे अधिक खतरा है।” इस बयान पर 14 मानवतावादी संगठनों ने हस्ताक्षर किए हैं और चेतावनी दी है कि ऐसे लोगों की बड़ी संख्या होगी जिनकों सहायता नहीं पहुंचाई जा सकेगी।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!