Wednesday, October 23, 2019 - 01:14 PM
- पीलीभीत

उचित दर विक्रेता के चयन हेतु जनपद की 13 ग्राम पंचायतों में 23 अक्टूबर 2019 को ग्राम सभाओं में की जायेगीं खुली बैठक

159

9 अक्टूबर 2019
दीनदयाल शास्त्री ब्यूरो

पीलीभीत। जिलाधिकारी के निर्देशानुसार वर्तमान में जनपद की निम्न 13 ग्राम पंचायतों में जहां नई उचित दर की दुकान की नियुक्ति हेतु उचित दर विक्रेता के चयन हेतु ग्राम सभा की खुली बैठक में प्रस्ताव पारित कराया जाना है।
वही ग्राम सभा की खुली बैठकों हेतु दिनांक 23 अक्टूबर 2019 निर्धारित की गई है बैठक के पर्यवेक्षण हेतु निम्नवत अधिकारियों को नोडल अधिकारी नामित किया गया है। विकासखण्ड अमरिया के ग्राम निसावा निसइया में उप जिलाधिकारी परेवा वैश्य में खण्ड विकास अधिकारी अमरिया, टोण्डरपुर ए0 में तहसीलदार अमरिया व कुर्री में नायब तहसीलदार अमरिया की अध्यक्षता में खुली बैठक की जानी है।
जबकि विकासखण्ड बीसलपुर के ग्राम सुकटिया जसकरनपुर में तहसीलदार बीसलपुर, विकासखण्ड बिलसण्डा की ग्राम पिपरिया सिंगीपुर में खण्ड विकास अधिकारी बिलसण्डा, विकासखण्ड मरौरी के ग्राम दियूनी केसरपुर में उप जिलाधिकारी सदर, गजरौला कलां मु0 में तहसीलदार सदर पीलीभीत, सन्तोषपुरा में खण्ड विकास अधिकारी मरौरी, भूडा सरैन्दा सहराई में नायब तहसीलदार सदर तथा विकासखण्ड पूरनपुर के ग्राम मोहनपुर जब्ती में तहसीलदार पूरनपुर अमरैया कलां में खण्ड विकास अधिकारी पूरनपुर, महादेव माती में नायब तहसीलदार पूरनपुर की अध्यक्षता में ग्राम सभाओं की खुली बैठक कर प्रस्ताव पारित किया जायेगा।
नामित नोडल अधिकारी निर्धारित तिथि में उक्त रिक्त ग्राम पंचायतों में अपनी उपस्थिति में ग्राम सभा की खुली बैठक में निर्धारित आरक्षण के अन्तर्गत नियमानुसार उचित दर विक्रेता की नियुक्ति हेतु प्रस्ताव पारित कराये जाने का पूर्ण दायित्व पूर्व की भांति सम्बन्धित खण्ड विकास अधिकारी का होगा। खण्ड विकास अधिकारी एवं उपजिलाधिकारी द्वारा अपने स्तर से सम्बन्धित ग्राम विकास अधिकारी/ग्राम पंचायत अधिकारियों को प्रस्ताव की प्रक्रिया पूर्ण कराने व इसका व्यापक प्रचार-प्रसार कराये जाने हेतु निर्देशित किया जायेगा। बैठक की कार्यवाही की वीडियोग्राफी/फोटोग्राफी अवश्य कराई जायेगी। नामित अधिकारियों द्वारा बैठक के तत्काल प्रस्ताव पारित होने के सम्बन्ध में जिलाधिकारी को अवगत कराया जाये।
वही कार्य में किसी भी प्रकार की शिथिलता अथवा लापरवाही उजागर होती है तो सम्बन्धित अधिकारी/कर्मचारी का उत्तरदायित्व निर्धारित करते हुये कठोर विभागीय कार्यवाही अमल में लाई जायेगी।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...