Wednesday, October 23, 2019 - 01:33 PM
फ़्लैशराष्ट्रीय न्यूज़

IAF मना रहा अपना 87वां स्थापना दिवस, वायु सेना ने दिखाया दमखम

19

भारतीय वायुसेना अपना 87वां स्थापना दिवस मना रही है। हिंडर एयरबेस पर वायुसेना अपने ताकत का अहसास करा रही है। वायुसेना आकाश में अपने दम को दिखा रही है कि कैसे वो किसी भी हालात का सामना करने के लिए तैयार है। इन सबके बीच आज वायुसेना को अत्याधुनिक राफेल विमान भी मिल जाएगा।

आईएएफ के चीफ आरकेएस भदौरिया ने कहा कि बालाकोट एयरस्ट्राइक से यह साबित हो चुका है कि हम किस तरह दृढ़ राजनीतिक इच्छाशक्ति के जरिए सामरिक नीतियों को निर्धारित कर सकते हैं। अब देश आतंकवाद और उसके पोषक देश के खिलाफ कार्रवाई से पीछे हटने वाला नहीं है ।

वहीं, गाजियाबाद के हिंडन एयरबेस पर विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान समेत बालाकोट एयरस्ट्राइक में शामिल पायलटों ने मिग फाइटर प्लेन उड़ाए। तीन चिनूक हेलिकॉप्टर ने ‘चिनूक फॉर्मेशन’ और मिग बायसन एयरक्राफ्ट फाइटर प्लेन ने ‘मिग फॉर्मेशन’ बनाई। तीन मिराज 2000 और दो सुखोई-30एमकेआई फाइटर एयरक्राफ्ट ने ‘एवेंजर फॉर्मेशन’ बनाई।

वहीं, अभिनंदन वर्तमान की 51वीं स्क्वॉड्रन और मिराज 2000 की9 स्क्वॉड्रन,फ्लाइट कंट्रोलरमिंटी अग्रवाल की601 सिग्नल यूनिट को वायुसेना प्रमुख आरकेएस भदौरिया ने प्रशस्ति पत्र दिया।तीनों यूनिटको यह सम्मान26 फरवरी को बालाकोट में जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी ठिकानों पर एयर स्ट्राइक करने और 27 फरवरी को पाकिस्तानी लड़ाकू विमानों के हमले को नाकाम करने के लिए दिया गया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सेना के जवानों और उनके परिवार का आभार जताया।

इससे पहले सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत, वायुसेना प्रमुख आरकेएस भदौरिया और नौसेना प्रमुख एडमिरल करमबीर सिंह ने राष्ट्रीय युद्ध स्मारक पर शहीदों को श्रद्धांजलि दी। साथ ही भारतीय वायुसेना ने ट्वीट कर सैनिकों और उनके परिवारों को बधाई दी।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...