महिला लेखपाल के साथ हुए दुर्व्यवहार के विरोध में लेखपालों ने भरी हुंकार

ओमप्रकाश मिश्रा (संवाददाता)

मड़िहान । जनपद कन्नौज में अधिवक्ताओं द्वारा जनपद के समस्त लेखपालों पर जानलेवा हमला करने व महिला लेखपाल से दुर्व्यवहार करने वाले दोषी अधिवक्ताओं पर कार्रवाई किए जाने को लेकर तहसील मड़िहान के लेखपाल संघ ने आज कलमबंद हड़ताल कर दिया। लेखपालों का कहना था कि तहसील छिबरामऊ-कन्नौज में देवेंद्र कुमार राजपूत अधिवक्ता द्वारा पहले ईएसडब्लू प्रमाण पत्र पर जब रिपोर्ट लगाने का दबाव महिला लेखपाल पर बनाया गया तथा रिपोर्ट ना लगने पर महिला लेखपाल से मारपीट की गई, वहीं बचाव में आई दूसरी महिला लेखपाल के साथ भी दुर्व्यवहार किया गया तत्पश्चात सैकड़ों की संख्या मे अधिवक्ता तहसील में आए उन पर हमला कर दिया। उनके साथ मारपीट की और 4 से 5 घंटे तक उनको तहसील सभागार में बंधक बनाकर रखा गया। उक्त घटना जिलाधिकारी कन्नौज ने पुलिस की लापरवाही के कारण हुई घटना बताया। जनपद के लेखपालों के विरोध के पश्चात भी लेखपालों की तरफ से दी गई तहरीर पर देर रात एफआईआर दर्ज की गई। जिसमें आज तक कोई कार्यवाही नहीं हुई। दोषियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर लेखपालों द्वारा पूर्व सूचना पर जिला कलेक्ट्रेट कार्यालय पर धरना दिया जा रहा धरना स्थल पर सुरक्षा की मांग के बावजूद भी जिलाधिकारी एवम पुलिस अधीक्षक ने सुरक्षा व्यवस्था नहीं कराई। जिस कारण सैकड़ों की संख्या में वकीलों द्वारा कलेक्टर परिसर में धरना स्थल पर बैठे लेखपालों पर लाठी-डंडों से हमला कर दिया गया।जिसमें कई लेखपाल घायल हो गए। इसी प्रकरण को लेकर उत्तर प्रदेश लेखपाल संघ ने आज दिनांक 25 मई से पूरे प्रदेश में 350 तहसीलों में संपूर्ण कार्य बहिष्कार करते हुए धरना प्रदर्शन व आंदोलन कर रहा है जब तक की उनकी मांगे पूरी नहीं की जाती औऱ दोषी की तत्काल गिरफ्तारी की नही हो जाती।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!