धान की फसल में लग रहे हों कीड़े तो करें ये उपाय

16 सितम्बर 2019

आनंद कुमार चौबे (संवाददाता)

सोनभद्र । जिला कृषि रक्षा अधिकारी ने जानकारी देते हुए बताया जिले के किसान भाई धान की फसलों में लगने वाले कीट/रोग से बचाव के लिए नियमित निगरानी करें। कीट रोग के लक्षण परिलक्षित होने पर तत्काल सुझाव एवं संस्तुतियों को अपनाकर ध्यान की फसल को बचा सकते है। उन्होंने कीटों के विषय में जानकारी देते हुए उससे बचने का उपाय भी बताया।

तना बेधक – इस कीट की मादा पत्तियों पर समूह में अण्डा देती है। अण्डों से सूडियॉ निकलकर तनों में घुस कर मुख्य शूट को क्षति पहुंचाती है, जिससे बढ़वार की स्थिति में मृतगोभ तथा बालियां आने पर सफेद वाली दिखायी देती है।

हरा फुदका :– इस कीट के प्रौढ़ हरे रंग के होते हैं तो उनकी ऊपरी पंखों के दोनों किनारों परकाले बिन्दु पाये जाते हैं। इस कीट के शिशु एवं प्रौढ़ दोनों ही पत्तियों से रस चूसकर हानि पहुंचाते हैं। जिससे ग्रसित पत्तियां पहले पीली व बाद में कत्थई रंग की होकर नोक से नीचे की तरफ सूखने लगती हैं।

भूरा फुदका :- इस कीट के प्रौढ़ भूरे रंग के पंखयुक्त तथा शिशु पंखहीन भुरे रंग के होते हैं। इस कीट के शिशु एवं प्रौढ़ दोनों ह पत्तियों एवं कल्लों के मध्य रस चूसकर हानि पहुंचाते हैं, जिससे प्रकोप के प्रारम्भ में गोलाई में पौधें काले होकर सूखने लगते हैं, जिसे हॉपर बर्न भी कहते हैं।

सफेद पीठ वाला फुदका :- इस कीट के प्रौढ़ कालापन लिए हुए भूरे रंग के तथा पीले शरीर वाले होते हैं, इनके पंखों के जोड़ पर सफेद पट्टी होती है। शिशु सफेद रंग के पंखहीन होते हैं तथा उनके उदर पर सफेद एवं काले धब्बे पाये जाते हैं। इस कीट के शिशु एवं प्रौढ़ दोनों ही पत्तियों एवं किल्लों के मध्य रस चूसते हैं, जिससे पौधे पीले पड़ कर सूख जाते हैं।

नियंत्रण के उपाय- इस कीट के पूर्वानुमान एवं नियंत्रण के लिए 5 फेरोमोन ट्रेप प्रति हेक्टेयर प्रयोग करें। तनाबेधक कीट की नियंत्रण के लिए रसायनों में से किसी एक रसायन को प्रति हेक्टेयर बुरकाव/500 से 600 लीटर पानी में घोलकर छिड़काव करना चाहिए। बाईफेनथ्रिन 10 प्रतिशत ई0सी0 500 मिली0 लीटर प्रति हेक्टेयर 500 लीटर पानी में घोलकर छिड़काव करें। कार्बोफ्यूरान 3जी 20 किलोग्राम 3-5 सेन्टीमीटर स्थिर पानी में प्रयोग करें। कारटॉप हाईड्रोक्लोराइड 4जी 18 किलोग्राम 3-5 सेन्टीमीटर स्थिर पानी में प्रयोग करें। क्लोरपायरीफास 20 प्रतिशत ई0सी0 1.5 लीटर, क्यूनॉलफास 25प्रतिशत ई0सी0 1.5 लीटर, ट्राएजोफास 40 प्रतिशत ई0सी0 1.5 लीटर व मोनोक्रोटोफास 36 प्रतिशत एस0एल 1.25 लीटर प्रति हेक्टेयर 500 लीटर पानी में घोलकर छिड़काव करें।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!