हिन्दी दिवस पर सोन संगम की काव्य गोष्ठी सम्पन्न

15 सितम्बर 2019

अंजनी चौबे(संवाददाता)

शक्तिनगर। साहित्यिक, सामाजिक संस्था सोन संगम के तत्वावधान में, हिन्दी दिवस के अवसर पर एनटीपीसी शक्तिनगर स्थित संगम शॉपिंग सेण्टर परिसर में 14 सितम्बर, 2019, शनिवार को अपराह्न एक काव्य गोष्ठी का आयोजन हिन्दी के प्रख्यात साहित्यकार रामेश्वर मिश्र ‘अनुरोध’, कोलकाता के मुख्य आतिथ्य एवं आलोक चन्द्र ठाकुर, अपर महाप्रबन्धक, एनटीपीसी, रामागुण्डम की अध्यक्षता में किया गया, जबकि विशिष्ट अतिथि के रूप में हिन्दी के प्रख्यात गीतकार चन्द्रिका प्रसाद पाण्डेय ‘अनुरागी’ उपस्थित रहे। मुख्य अतिथि रामेश्वर मिश्र ’अनुरोध’ ने राष्ट्रभाषा हिन्दी के इतिहास, विकास एवं वर्तमान चुनौतियों पर विस्तार से प्रकाश डालते हुए दैनिक व्यवहार में हिन्दी के अधिकाधिक प्रयोग एवं रचनात्मक साहित्य के सृजन पर बल दिया।

योगेन्द्र वीएस तिवारी ने ‘हूँ मैं बहुत हैरान, कहाँ खो रहा इंसान’ गीत सुनाकर सामाजिक विडम्बनाओं को रेखांकित किया। एनसीएल खड़िया से पधारे युवा कवि पाणि पंकज पाण्डेय ने ‘एक हाथ गीता, माँ एक में कुरान दे’ वाणी वन्दना सुनाकर न सिर्फ माँ सरस्वती की आराधना की, अपितु राष्ट्रीय एकता का स्वर भी बुलन्द किया। बहर बनारसी ने हमें गले से लगाने कोई नहीं आया’ गजल के माध्यम से जीवन के एकाकीपन को आवाज दी। माहिर मिर्जापुरी की गजल ‘कूचा-ए-जाना में जाना मैंने छोड़ दिया’ ने श्रोताओं की खूब वाहवाही बटोरी। योगेन्द्र मिश्र ने ‘गूगल पे पैदा हुए, वाट्सऐप पे यंग’ व्यंग्य रचना से सोशल मीडिया के अतिशय प्रयोग पर चुटकी ली। रमाकान्त पाण्डेय ने ‘काहे बोलेला बोलिया कठोर भइया’ गीत सुनाकर भाषा के संस्कार की आवश्यकता बतायी। विशिष्ट अतिथि चन्द्रिका प्रसाद पाण्डेय ‘अनुरागी’ के गीत ‘वही बातें, वही तकरार, यार रहने दो, है तो ये अपना ही परिवार, यार रहने दो’ ने कार्यक्रम को उत्कर्ष पर पहुँचा दिया। अध्यक्षता कर रहे आलोक चन्द्र ठाकुर ने ‘ इतना न सफल हो जाना तुम, संशय के बादल छा जायें’ गीत सुनाकर प्रतिस्पर्द्धा के दौर में आत्मीय सम्बन्धों को सहेजे रखने की महत्ता को दर्शाया। उक्त अवसर पर संस्था के कार्यकारी अध्यक्ष नवीन चन्द्र श्रीवास्तव, विजय दुबे, उमेश चन्द्र जायसवाल, केके पाण्डेय, उपेन्द्र, मुकेश, विकास, श्रवण सहित क्षेत्र के गणमान्य व्यक्ति उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन संस्था के सचिव मानिक चन्द पाण्डेय ने किया। चन्द्रशेखर जोशी के आभार प्रदर्शन के साथ कार्यक्रम सम्पन्न हुआ।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!