खबर का असर, गौशाला निर्माण की जमीन का हल्का लेखपाल ने किया मुआयना

04 सितम्बर 2019

रिविन शुक्ला (संवाददाता)

– जनपद न्यूज की खबर के बाद जागा प्रशासन

बिलसंडा (पीलीभीत) । गांव मरौरीखास में गौशाला निर्माण के लिए विधायक रामसरन वर्मा द्वारा शिलान्यास किये के जाने वाली जमीन पर किस तरह से लोगों द्वारा खब्जा कर लिए गया, इस खबर को जनपद न्यूज लाइव ने प्रमुखता से प्रसारित किया था।
जिसके बाद हिन्दू युवा वाहिनी के जिलाध्यक्ष ठाकुर मनीष सिंह द्वारा अपने कार्यकर्ताओं के साथ गौशाला निर्माण की जमीन को देखा गया था, जहां गौशाला निर्माण की जमीन पर धान की फसल के साथ ही अवैध कब्जा पाया गया।

इस मामले को गम्भीरता से लेते हुए उपजिलाधिकारी सौरभ दुबे को भी अवगत कराया गया था।
जबकि ग्राम प्रधान पति द्वारा बताया गया था कि विकास निधि योजना के अंतर्गत गांव में एक पशु चिकित्सालय सहायता कृत्रिम गर्भाधान एवं प्रजनन केंद्र का निर्माण होने के लिए लगभग पांच बीघा जमीन चयनित की गई थी।जिसका क्षेत्रीय विधायक रामसरन वर्मा द्वारा 4 मार्च 2019 को शिलान्यास भी किया जा चुका है। परन्तु चयनित गौशाला निर्माण की जमीन पर कार्य की शुरुआत नहीं हो सकी है। जबकि निर्माण कार्य दायी संस्था यूपी स्टेट कंस्ट्रक्शन एन्ड इन्फ्रास्ट्रक्चर डेपलपमेंट कारपोरेशन लिमिटेड के सुपुर्द किया जा चुका है।

हल्का लेखपाल सौरभ सक्सेना ने बताया कि गौशाला निर्माण की चयनित जमीन का मौका मुवायना कर लिया गया है, जिस पर एक दबंग व्यक्ति द्वारा अवैध कब्जा कर धान की फसल लग दी गई है।
गौशाला निर्माण की चयनित जमीन के मामले की आख्या कानूनगो के सुपुर्द कर दी गई है।
तहसील कार्यालय से जो आदेश जारी होगा उसी के आधार पर आगे की कार्यवाही की जाएगी।

आपको बता दें कि यूपी सरकार आवारा पशुओं के चलते किसानों की फसल सुरक्षा के हित के लिए ही चयनित स्थानों पर गौशालाओं का निर्माण करा रही है। ताकि आवारा पशुओं से जनता के जानमाल की भी सुरक्षा हो सके ।
प्रशासन की उदासीनता व लापरवाही के चलते चयनित जमीन पर अवैध कब्जा हो गया लेकिन प्रशासन को हवा तक नहीं लगी । यदि समय रहते कब्जा हटा लिया गया होता तो मुख्यमंत्री के ड्रीम प्रोजेक्ट को शुरू किया जा सकता था ।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!