राष्ट्र सुरक्षा परिषद में बंद कमरे में कश्मीर पर हुई चर्चा, भारत कहा अनुच्छेद 370 हटाने के फैसले से बाहरी लोगों कोई मतलब नहीं

16 अगस्त 2019

जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटने से बौखलाए पाकिस्तान को अब अंतरराष्ट्रीय स्तर पर करारा झटका लगा है । चीन की आड़ लेकर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के दरवाजे पर पहुंचे पाकिस्तान को चीन के अलावा किसी और देश का समर्थन नहीं मिला है । चीन की जिद पर आज संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में बंद कमरे में कश्मीर पर चर्चा हुई ।

इस चर्चा के बाद भारत ने एक बार फिर साफ किया कि जम्मू कश्मीर का मुद्दा पूरी तरह से आंतरिक और द्विपक्षीय है । इसके साथ ही भारत ने साफ किया कि अनुच्छेद 370 हटाने के फैसले से बाहरी लोगों कोई मतलब नहीं है ।

अकबरुद्दीन ने कहा कि पाकिस्तान जेहाद के नाम पर भारत में हिंसा फैला रहा है । उन्होंने कहा कि हम अपनी नीति पर हमेशा की तरह कायम हैं ।

कश्मीर मुद्दे पर अकबरुद्दीन ने कहा कि सभी मसले बातचीत से सुलझाए जाएंगे । हिंसा किसी भी मसले का हल नहीं है । साथ ही अकबरुद्दीन ने कहा कि पाकिस्तान को आतंकवाद फैलाना बंद करना होगा. अकबरुद्दीन ने कहा कि भारत, जम्मू कश्मीर में शांति बनाए रखने के लिए प्रतिबद्ध है ।

उन्होंने कहा, “हमारा बहुत पहले से यह मत है कि जम्मू कश्मीर भारत का आंतरिक मामला है और अनुच्छे 370 भारतीय संविधान से जुड़ा है । हाल ही में भारत सरकार और हमारी लेजिस्लेटिव बॉडीज द्वारा लिया गया फैसला गुड गवर्नैंस प्रमोट करने के लिए लिया गया है. जम्मू कश्मीर और लद्दाख के सामाजिक और आर्थिक विकास के मद्देनजर यह फैसला लिया गया है।”


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...