Health Tips: बच्चों की सेहत महफूज रहे,पहले ही कर लीजिए कुछ तैयारी,जानें


बारिश का मौसम सुहावना होता है। झुलसा देने वाली गर्मी में जब रिमझिम बारिश होती है तो बड़ों का भी मन खुश हो जाता है। फिर बच्चे तो बच्चे होते हैं। यूं भी बारिश के मौसम में बालमन खुद-ब-खुद खिल उठता है। मगर इस मस्ती में सेहत बनी रहे ये भी जरूरी है। बरसात के मौसम में संक्रमण का खतरा सबसे ज्यादा होता है। ये संक्रमण सबसे पहले बच्चों को ही अपनी चपेट में लेते हैं। बच्चों की सेहत महफूज रहे इसके लिए पहले ही कर लीजिए कुछ तैयारी।

खान-पान पर रखें नजर:
बच्चों की रोग-प्रतिरोधक क्षमता आमतौर पर काफी कम होती है। मॉनसून में हवा में नमी होती है, जिससे बाहर के खाने से कई तरह की बीमारियां हो सकती हैं। इसके अलावा आपको यह भी नहीं पता होता कि बाहर का खाना किस तरह की सामग्री से बना है। सफाई का कितना ध्यान रखा गया है। इसलिए इस मौसम में बच्चों को घर का खाना ही खिलाएं। स्वाद के साथ-साथ सेहत भी बरकरार रहेगी।

रोग-प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए:
रोग-प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए हरी सब्जियों और फलों के माध्यम से बच्चों को आवश्यक विटामिन्स खिलाएं। बारिश में उबला हुआ पानी ही पीएं और पिलाएं।

साफ-सफाई पर भी हो नजर:
बच्चों के कपड़ों को ऐंटीसेप्टिक लिक्विड्स से धोएं, ताकि किसी भी तरह के बैक्टीरिया या फंगस पनप न पाएं। बैक्टीरिया या फंगस से त्वचा संबंधी संक्रमण होने की संभावना रहती है।

तापमान गर्म रखें:
मॉनसून में हवा में नमी होने के कारण बच्चों को सर्दी लगने की संभावना बढ़ जाती है। ऐसे में बच्चों के कमरे को गर्म और सूखा रखें। किसी भी तरह की सीलन को तुरंत दूर करें।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!