ट्रक ने कार में मारी टक्कर, उन्नाव रेप पीड़िता गंभीर, चाची और मौसी की मौत

28 जुलाई 2019


यूपी के चर्चित उन्नाव गैंगरेप केस की पीड़िता के वाहन को रविवार दोपहर रायबरेली जिले में एक ट्रक ने टक्कर मार दी। इस घटना में बुरी तरह से घायल होने के बाद पीड़िता मां और चाची की मौत हो गई। गैंगरेप पीड़िता और उनके वकील की हालत नाजुक बनी हुई है। उन्हें लखनऊ के ट्रॉमा सेंटर में रेफर किया गया है। पीड़िता के परिजनों ने हादसे को साजिश बताया है। दूसरी तरफ, समाजवादी पार्टी ने भी मामले की सीबीआई जांच की मांग की है। ये वही रेप पीड़िता है जिस मामले में उन्नाव के बीजेपी विधायक कुलदीप सेंगर आरोपी हैं ।

सूचना के मुताबिक उन्नाव गैंगरेप पीड़िता के चाचा जेल में बंद हैं । चाचा से मिलने के लिए पीड़िता, उसकी मां, मौसी, चाची और वकील रायबरेली जेल जा रहे थे. इसी दौरान एक ट्रक ने उनकी कार को टक्कर मार दी । इसमें कार में सवार लोग गंभीर रूप से घायल हो गए । हादसे की स्थिति को वाहनों की टक्कर से भी समझा जा सकता है ।

हादसे के बाद गंभीर रूप से घायलों को लखनऊ के ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया गया । यह हादसा रायबरेली के अतरुआ गांव में हुआ है । घटना की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची.पुलिस ने घायलों को फौरन अस्पताल भेजा । इस बीच, समाजवादी पार्टी के एमएलसी उदयवीर और सुनील साजन गंभीर रूप से घायल रेप पीड़िता से मिलने पहुंचे ।

जांच में जुटी पुलिस

हादसे की जानकारी मिलते ही लखनऊ रेंज के आईजी ने मौके पर फोरेंसिक टीम भेज दी है. पुलिस ने बताया कि ट्रक ड्राइवर और मालिक पकड़ा गया है, जो फतेहपुर का रहने वाला है. वहीं ‘आज तक’ से रेप पीड़िता की बहन ने विधायक पर आरोप लगाया कि MLA के आदमियों ने घटना को अंजाम दिया है ।

गौरतलब है कि इसी पीड़िता ने आरोप लगाया था कि उन्नाव के बांगरमऊ से विधायक कुलदीप सेंगर ने उसके साथ 4 जून, 2017 को अपने आवास पर दुष्कर्म किया, जहां वह अपने एक रिश्तेदार के साथ नौकरी मांगने के लिए गई थी ।

कुलदीप के खिलाफ उन्नाव के माखी थाने में भारतीय दंड संहिता की धारा 363, 366, 376, 506 और पॉक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया था. शासन ने इस आदेश में इस पूरे मामले की जांच सीबीआई से कराने की अनुशंसा की थी, जिसे एजेंसी ने स्वीकार कर लिया था ।

बता दें कि कुलदीप सेंगर बांगरमऊ से भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के विधायक हैं । सेंगर उन्नाव के चर्चित दुष्कर्म मामले के आरोपी हैं । कुलदीप उन्नाव के अलग-अलग विधानसभा सीटों से चार बार से लगातार विधायक हैं ।

पुलिस के मुताबिक ट्रक फतेहपुर का है। घटना की जांच फरेंसिक टीम कर रही है। गैंगरेप पीड़िता को सुरक्षा के लिए 2 सरकारी गनर भी मिले हुए हैं, लेकिन घटना के वक्त दोनों उसके साथ नहीं थे। बताया जा रहा है कि नियमित तौर पर सुरक्षा के लिए तैनात रहने वाले दोनों गनर रविवार को रायबरेली जाते समय कार में जगह न मिलने के कारण पाड़िता के साथ नहीं गए थे।

जेल में बंद रिश्तेदार से मिलने जा रहा था परिवार

मिली जानकारी के अनुसार, उन्नाव गैंगरेप पीड़िता के एक रिश्तेदार अभी रायबरेली की जेल में बंद हैं। रविवार को पीड़िता अपनी मां, चाची और वकील के साथ उनसे मिलने के लिए निजी वाहन से रायबरेली जा रही थी। इसी दौरान पीड़िता की कार यहां के सुल्तानपुर खेड़ा गांव के पास एक तेज रफ्तार ट्रक की चपेट में आकर दुर्घटनाग्रस्त हो गई।

सपा ने की घटना की सीबीआई जांच की मांग

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा है कि उन्नाव की रेप पीड़िता के साथ रायबरेली जाते हुए हुआ हादसा गम्भीर घटना है जिसके पीछे उसकी हत्या की आशंका भी हो सकती है । रेप पीड़िता अपने चाचा से मिलने अपनी माँ,चाची और वकील के साथ कार द्वारा उन्नाव से रायबरेली जा रही थी। उनकी कार को एक ट्रक ने टक्कर मारी जिसमे उनकी माँ और चाची की मृत्यु हो गई है और रेप पीड़िता और वकील गंभीर हालत में ट्रामा सेंटर लखनऊ में भर्ती है।
श्री यादव ने रेप पीड़िता के साथ घाटी घटना की जाँच सी.बी.आई से कराने की मांग की। उन्होंने कहा इस घटना से भा.जा.पा का विघायक सम्बद्ध है और प्रदेश में भा.जा.पा की सरकार है। प्रदेश मैं जंगल राज है । अपराधी बेख़ौफ़ हैं। सी.बी.आई की जाँच से ही इस हादसे पर से पर्दा उठ सकेगा।

वहीं रायबरेली दुर्घटना मामले में कांग्रेस विधायक आराधना मिश्रा ने कहा कि जिस तरह सीबीआई जांच के बावजूद इस तरह घटना हो गयी सरकार के ऊपर सवालिया निशान छोड़ रही है और अंदर ही अंदर इनको संरक्षण मिल रहा है । ड्राइवर का भागना सक के घेरे में आना । उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी तन-मन धन से पीड़ित के साथ है उसकी आवाज उठाएगी ।



अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!