आपदा प्रबंधन हेतु जनपद के तीन स्थलों पर किया गया माॅक ड्रिल रिहर्सल

18 जुलाई 2019
दीनदयाल शास्त्री ब्यूरो

पीलीभीत । जिला प्रशासन द्वारा बाढ़ से निपटने के लिए व बाढ़ में फंसे नागरिकों को तत्काल राहत मुहैया करके उन्हें सुरक्षित स्थानों पर कैसे पहुंचाया जाये और बाढ़ में डूब रहे व्यक्तियों को कैसे निकाला जाये के सम्बन्ध में आज दिनांक 18 जुलाई को जनपद के तीन प्रमुख बाढ़ प्रभावित स्थलों जैसे तहसील पीलीभीत में चंदोई पुल के पास देवहा नदी के तट पर, तहसील अमरिया के ग्राम निसरा में देवहा नदी के तट पर व तहसील कलीनगर में बाइफरकेशन गेस्ट हाउस के पास शारदा तट पर माॅक ड्रिल एक्सरसाइज का आयोजन किया गया। जिलाधिकारी के निर्देशंन में बाढ़ के दौरान राहत कार्य पहंुचाने व आपात स्थिति से निपटने हेतु जिला मुख्यालय पर आपदा कंट्रोल रूम इमरजेंसी आॅपरेशन सेंटर की स्थापना की गई। आपदा कट्रोल रूम में आॅपरेशन सेक्शन, प्लानिंग सेक्शन, लाॅजिस्टिक सेक्शन की भी स्थापना की गई, जहां से सम्पूर्ण आपदा राहत कार्यों पर नजर रखी गई और साथ ही साथ सम्बन्धित अधिकारियों को कंट्रोल रूम से दिशा निर्देश भी जारी किये गये और स्थिति का समय समय पर जायजा लिया गया।
आज माॅक ड्रिल रिहर्सल सम्बन्धित तहसील के उपजिलाधिकारी की अध्यक्षता में आयोजित किया गया। आयोजित माॅक ड्रिल रिहर्सल में जैसे ही जिला मुख्यालय पर स्थित आपदा कंट्रोल रूम, दूरभाष नम्बर 05882-257912 पर विभिन्न स्थानों पर अचानक आई बाढ़ में कुछ डूब रहे व्यक्तियों की सूचना प्राप्त होने पर तत्काल जिला मुख्यालय आपदा कंट्रोल रूम से सम्बन्धित क्षेत्र के अधिकारियों को दिशा निर्देश देते हुये रेस्क्यू टीम के साथ स्थल पर तत्काल पहुंचकर तत्काल कार्यवाही करने के निर्देश दिये गये, अधिकारियों द्वारा मौके पर रेस्क्यू टीम के साथ समय पर पहुंचकर कृत्रिम ढंग से डूबते हुये व्यक्तियों को रेस्क्यू कर बचाने का कार्य किया गया तथा साथ ही साथ तत्काल स्वास्थ्य सेवाऐं से समबन्धित अधिकारियों को सूचना देकर प्राथमिक उपचार हेतु स्थल पर पहुंचने और एम्बुलेंस के माध्यम से तत्काल अस्पताल भेजने का कार्य किया गया। साथ ही साथ लोगों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाने और राहत सामग्री पहंचाने और स्वास्थ्य सम्बन्धी सेवाऐं देने का रिहर्सल किया गया। इस दौरान पूरी परिस्थितियों को जिला मुख्यालय पर स्थिति आपदा कंट्रोल रूम से जिलाधिकारी वैभव श्रीवास्तव, पुलिस अधीक्षक मनोज कुमार सोनकर, मुख्य विकास अधिकारी रमेश चन्द्र पाण्डेय, अपर जिलाधिकारी अतुल सिंह, नगर मजिस्ट्रेट ऋतु पूनिया, जिला सूचना विज्ञान अधिकारी व अन्य जिला स्तरीय अधिकारियों द्वारा जायजा लिया गया।
आपदा राहत से जुडे सभी विभाग, पुलिस विभाग, स्वास्थ्य विभाग, बाढ़ खण्ड, राजस्व विभाग, लोक निर्माण विभाग, पूर्ति विभाग, पशु पालन विभाग सहित अन्य सभी सम्बन्धित विभागों की टीमें मौके पर उपस्थित रही।


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!