समाधान दिवस पर डीएम/एसपी ने सुनी फरियाद

16 जुलाई 2019

आनन्द कुमार चौबे (संवाददाता)

– कुल आवेदन पत्र 344, निस्तारित 42, लम्बित मामले 302

सोनभद्र । शासन की मंशा के अनुरूप जिले की तीनों तहसीलों में “सम्पूर्ण तहसील समाधान दिवस” का आयोजन जुलाई महीने के पहले मंगलवार को किया गया। पहले मंगलवार के सम्पूर्ण तहसील समाधान दिवस की खासियत यह रही कि सभी अधिकारी अपना-अपना नेम प्लेट लगाकर जनता की समस्याओं को सुनते हुए मामले को निस्तारित करने के लिए तत्पर रहे और तहसील परिसर में ही अपनी-अपनी विभागीय योजनाओं का स्टाल लगाकर नागरिकों को जानकारी दे रहे थे। मुख्य सम्पूर्ण तहसील समाधान दिवस दुद्धी में जिलाधिकारी अंकित कुमार अग्रवाल, पुलिस अधीक्षक सलमान ताज पाटिल व मुख्य विकास अधिकारी अजय कुमार द्विवेदी ने मौजूद सभी अधिकारियों का दायित्वबोध कराते हुए कहा कि तहसील दिवस में अब सम्बन्धित विभाग के अधिकारी अपने-अपने विभागों के समस्याओं को सुनेंगे और जो प्रकरण मौके पर निस्तारित नहीं होंगे, उनका प्रकरण सम्पूर्ण तहसील समाधान दिवस के मौके पर विभागीय कार्मिकों की टीम द्वारा किया जायेगा और जो मामले एक या दो दिन के अन्दर निस्तारित नहीं होंगे, उनका निस्तारण उच्च स्तरीय अधिकारी द्वारा मौके पर जाकर निस्तारित किया जायेगा। जिलाधिकारी ने सम्पूर्ण समाधान दिवस रजिस्टर का निरीक्षण किया और गुणवत्तापूर्ण निस्तारण न पाये जाने पर सम्बन्धितों को निस्तारण के निर्देश दियें। तहसील सम्पूर्ण तहसील समाधान दिवस में जिलाधिकारी अंकित कुमार अग्रवाल, पुलिस अधीक्षक सलमान ताज पाटिल, मुख्य विकास अधिकारी अजय कुमार द्विवेदी व प्रभारी उप जिलाधिकारी दुद्धी/तहसीलदार शशिभूषण मिश्र की मौजूदगी में कुल 103 शिकायती पत्र प्रस्तुत हुए, जिसमें मौके पर 12 निस्तारित किये गये और 6 टीमें बनाकर भेजी गयी, टीमों द्वारा 06 मामलों को निस्तारित किया गया। इस प्रकार कुल 18 प्रकरणों का निस्तारण किया गया। बाकी बचे 85 मामलों को समय-सीमा के अन्तर्गत मामलों को निस्तारित करने के निर्देश दिये गये। जिलाधिकारी ने सम्पूर्ण तहसील समाधान के मौके पर लेखपालों से कहा कि जमीन का मामला क्षेत्रीय पुलिस के साथ समन्वय बनाकर गुणवत्ता पूर्वक एक बार ही में समस्या का समाधान करें। इस मौके पर दिव्यांगों में दिव्यांग प्रमाण-पत्र वितरित किये गये साथ ही वृक्षारोपण के सम्बन्ध में प्रभागीय वनाधिकारी संजीव कुमार सिंह द्वारा विस्तार से जानकारी दी गयी।
सम्पूर्ण तहसील समाधान दिवस के अवसर पर जिलाधिकारी अंकित कुमार अग्रवाल, पुलिस अधीक्षक सलमान ताज पाटिल, मुख्य विकास अधिकारी अजय कुमार द्विवेदी, प्रभागीय वनाधिकारी संजीव कुमार सिंह, प्रभारी उप जिलाधिकारी दुद्धी/तहसीलदार शषिभूषण मिश्रा, जिला विकास अधिकारी रामबाबू त्रिपाठी, पीडी आर0एस0 मौर्या, डीपीआरओ आर0के0 भारती, जिला स्तरीय अधिकारीगण सहित अन्य सम्बन्धितगण मौजूद रहें।

सदर उपजिलाधिकारी ने सुनी जनता की समस्या

उप जिलाधिकारी यमुनाधर चौहान ने सम्पूर्ण तहसील समाधान दिवस राबर्ट्सगंज की अध्यक्षता की। उप जिलाधिकारी यमुनाधर चौहान ने पुराने लम्बित प्रकरणों के निस्तारण की गुणवत्ता के बनाये रखने की ताकीद करते हुए मौजूद कार्मिको को लम्बित मामलों को निस्तारित करने की ताकीद की। उप जिलाधिकारी यमुनाधर चौहान ने मौके पर मौजूद तहसील स्तरीय अधिकारियों का दायित्वबोध कराते हुए सम्बन्धित समस्याओं को मौके पर निस्तारित करने के निर्देश दिये। उन्होंने मौके पर कुल 75 मामलों को सुनते हुए मौके पर 4 मामलों को निस्तारित किये। इसके बाद उन्होंने 05 टीमें बनाकर क्षेत्रों में जाकर जमीनी हकीकत के मुताबिक निस्तारण के लिए अधिकारियों व कर्मचारियों के टीमों को भेजा। मुख्य विकास अधिकारी सुनील कुमार वर्मा द्वारा भेजी गयी टीमों द्वारा 05 मामलों का निस्तारण मौके पर जाकर किया गया, इस प्रकार तहसील दिवस के दिन राबर्ट्सगंज तहसील प्रशासन द्वारा कुल 09 मामले निस्तारित किये गये। बाकी बचे 66 मामलों को औपचारिकताओं को पूरा करते हुए समयबद्ध तरीके से निस्तारित करने के निर्देश दिये गये। इस मौके पर उप जिलाधिकारी सदर यमुनाधर चौहान, पुलिस क्षेत्राधिकारी सहित तहसील स्तरीय अधिकारीगण मौजूद रहें।

अपर जिलाधिकारी ने किया जनता की समस्या का निराकरण –

सम्पूर्ण तहसील समाधान दिवस की व्यवस्था के तहत घोरावल तहसील में सम्पूर्ण तहसील समाधान दिवस का आयोजन स्टाल लगाकर किया गया। इस मौके पर जहाँ अपर जिलाधिकारी योगेन्द्र बहादुर सिंह, उप जिलाधिकारी घोरावल वी0पी0 तिवारी जन समस्याओं को सुन रहे थे, वहीं आयुक्त विन्ध्याचल मण्डल मीरजापुर आनन्द कुमार सिंह व डीआईजी विन्ध्याचल मण्डल पीयूष श्रीवास्तव भी तहसील घोरावल में आयोजित सम्पूर्ण समाधान दिवस में जा पहुंचे और नागरिकों की समस्याओं को सुनना शुरू किया। मण्डलायुक्त ने सम्पूर्ण समाधान दिवस रजिस्टर का निरीक्षण करते हुए गुणवत्तापूर्ण निस्तारण के निर्देश उप जिलाधिकारी घोरावल को दिये और कहा कि प्राप्त आख्या का गहनता से निरीक्षण करें। गुणवत्तापूर्ण आख्या होने पर ही निस्तारण की कार्यवाही करें अथवा सम्बन्धित की आख्या गुणवत्ता पूर्ण निस्तारण के लिए वापस कर दें। इस मौके पर आयुक्त विन्ध्याचल मण्डल मीरजापुर आनन्द कुमार सिंह व डीआईजी विन्ध्याचल मण्डल पीयूष श्रीवास्तव, अपर जिलाधिकारी योगेन्द्र बहादुर सिंह व उप जिलाधिकारी घोरावल आदि ने 166 फरियादियों के दुःख-दर्द को सुना और मौके पर 09 मामले निस्तारित किये। अधिकारियों द्वारा 06 टीमें बनाकर क्षेत्रों में निस्तारण के लिए भेजी गयी और भेजी गयी टीमों द्वारा 06 प्रकरण निस्तारित किये गये। इस प्रकार तहसील दिवस घोरावल मेंं कुल 15 प्रकरण निस्तारित किये गये, बाकी बचे 151 प्रकरणों को समयबद्ध तरीके से निस्तारित करने के निर्देश सम्बन्धितों को दिये। इस मौके पर तहसील स्तरीय अधिकारीगण मौजूद रहें।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!