बारिश ने खोली नपा की तैयारियों की पोल

09 जुलाई 2019

आनन्द कुमार चौबे (संवाददाता)

– डीएम का निर्देश भी साबित हो रहा बेअसर

कल जिलाधिकारी ने नगर का निरीक्षण कर नपा और उपसा को दिया था निर्देश

– बारिश के पानी की निकासी सही ढंग से न हो पाने से नगरवासियों को करना पड़ रहा है भारी दिक्कतों का सामना

सोनभद्र । शनिवार की रात से शुरू हुई बारिश का क्रम भी आज सुबह तक बना रहा। इससे एक तरफ जहां लोगों को गर्मी से राहत मिली, वहीं नगरपालिका की बारिश पूर्व तैयारियों की पोल खुल गई। नगर के तमाम सड़कों पर जल-जमाव होने से आवागमन करने वालों को दिक्कतों का सामना करना पड़ा। उन्हें गंदे पानी के बीच से आने-जाने को विवश होना पड़ा।
नगर के अधिकांश मार्गों पर नाला और नालियों की हालत यह है कि यह पूरी तरह से कूड़ा-कचड़ा से पटे हुए हैं। इसके कारण हल्की बारिश होने पर भी यहां जलनिकासी बाधित हो जाती है। शनिवार की रात से शुरू हुए लगातार बारिश से अधिकांश सड़कों झील में तब्दील हो गई। इस झील में नाली और सड़कों पर पहले इधर-उधर फैला कूड़ा-कचड़ा तैरता हुआ नजर आया। शहर के फ्लाईओवर के नीचे, बढ़ौली चौक, शीतला मंदिर रोड, धर्मशाला चौक, न्यूमार्केट के साथ ही अन्य मार्गों पर जलजमाव लगा रहा। पानी के बीच से तेज रफ्तार से वाहनों के गुजरने के दौरान पैदल चलने वालों पर गंदे पानी की छींटा पड़ने से उनके कपड़े आदि पर गंदा पानी पड़ा।

वहीं नगर में बने फ्लाईओवर से बरसात के समय झरने जैसा नजारा हो जाता है। ऊपर से बेतहासा बारिश का पानी नीचे गिरता है जिससे बारिश से बचने के लिए फ्लाईओवर के नीचे रुके राहगीरों को भी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है।

परेशान लोगों का कहना है कि नगरपालिका ने बारिश से निबटने के लिए तैयारी नहीं की थी। उसकी तरफ से नाला और नालियों की सफाई नहीं कराई गई, जिससे जल-जमाव की समस्या उत्पन्न हो रही है साथ ही सड़क निर्माण कंपनी उपसा ने भी फ्लाईओवर से पानी निकासी के नाम पर सिर्फ कोटा पूर्ती किया है। कुछ इसी तरह से स्थिति ग्रामीण क्षेत्रों की भी रही। मार्गों के साथ ही गलियों में पानी लगने से लोगों को दुश्वारियों का सामना करना पड़ा।

वहीं नगर पालिका अध्यक्ष वीरेंद्र जायसवाल ने बताया कि यहाँ कोई सीवर लाइन नहीं है इसलिए पानी निकासी में दिक्कत का सामना करना पड़ता है।इसलिए मैंने इस बारे में नगर विकास मंत्री सुरेश खन्ना से भी इस बारे में बात किया है और इस समस्या से अवगत करा दिया है। उन्होंने कहा कि सड़क निर्माण कंपनी उपसा के नाली निर्माण पर सवाल खड़ा करते हुए कहा कि उपसा द्वारा बनायी गयी नाली ठीक से नहीं बनी है जिससे फ्लाईओवर के नीचे और आसपास के गंदे पानी की निकासी सही ढंग से नहीं हो पा रही है जिससे परेशानी और बढ़ गयी है।

क्या इस वर्ष भी नगरवासियों को दिक्कतों का सामना करना पड़ेगा? के सवाल पर उन्होंने कहा कि हमने नालियों की सफाई करा दिया है जिससे नगरवासियों को दिक्कतों का सामना न करना पड़े।

बारिश के पानी के निकासी की समस्या नई नहीं है इस समस्या की याद नपा और जिला प्रशासन को तब आती है जब बरसात शुरू हो जाती है और नगरवासियों को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है लेकिन बड़ा सवाल ये उठता है कि इस समस्या से निबटने के लिए बारिश पूर्व तैयारी करनी चाहिए। देखने वाली बात यह है कि अभी तो बारिश की शुरुआत हुई है और अभी से पूरा नगर तालाब में तब्दील हो चुका है । ऐसे में जब सावन की शुरुआत होगी तब क्या होगा?


अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
error: Content is protected !!