ओवरलोड के खिलाफ अभियान : डाला चेक पोस्ट पर सीसीटीवी कैमरा फेल, अब मजिस्ट्रेट के हवाले

संजय केसरी (संवाददाता)

डाला। जिलाधिकारी के आदेशानुसार जनपद में उप खनिजों के परिवहन करने वाले परिवहन द्वारा ओभर लोडिंग/अवैध परिवहन किए जाने की शिकायतों के दृष्टिगत उसपर प्रभावी नियंत्रण रखने हेतु निम्न विवरण के अनुसार ई-एम एम संग्रह केंद्र डाला पर निम्नलिखित अधिकारियों एवं कर्मचारियों लगाई जाती हैं।

उक्त के अतिरिक्त अवशेष समय अंतराल के लिए डाला चेक प्रातः 8:00 सायं 4:00 बजे तक दो लेखपालों उपजिलाधिकारी ओबरा द्वारा ड्यूटी लगाई जाय और थानाध्यक्ष चोपन द्वारा पुलिस बल लगाई जाय। इसके अतिरिक्त बघ्घा नाला चेकपोस्ट पर दो दो लेखपालों की तैनाती उपजिलाधिकारी ओबरा द्वारा तीन शिप्ट में कई जाएगी, तथा प्रभारी निरीक्षक थाना ओबरा द्वारा पुलिस बल कराई जाएगी। आवश्यकतानुसार खनन परिवहन विभाग द्वारा भी कर्मचारियों/अधिकारियों की तैनाती सुनिश्चित की जाय। यह आदेश तत्काल प्रभाव से लागू होंगे।

बताते चले कि कुछ दिनों से डाला खनन बैरियर लगातार चर्चाओं में है । डाला बैरियर पर विवाद व ओवरलोड वाहन छोड़े जाने की खबर के बाद वहां सीसीटीवी कैमरा लगाया गया था। लेकिन फिर भी विवाद खत्म न होते देख अब वहां मजिस्ट्रेट की तैनाती कर दी गयी है।

अब देखना यह दिलचस्प होगा कि तीसरी आंख विवाद पर अंकुश नही लगा पाई हैं लेकिन उसपर गठित टीम कैसे अंकुश लगा पाती हैं ।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!