बारिश का कहर: लोगों का आशियाना गिरा हुए बेघर

आर के ( संवाददाता)

-सीमा से सटे सागो बांध में बारिश ने मचाई तबाही

सागो बांध. जब से आषाढ़ से सावन का महीना प्रारंभ हुआ है तब से आषाढ़ से सावन दूभर वाली कहावत इंद्र देव भगवान ने साक्षात चरितार्थ कर दिया है। सप्ताह भर से लगातार झमाझम बारिश ने लोगों के जीवन को पूरी तरह से अस्त-व्यस्त कर दिया है। साथ ही मवेशी भी दिन रात खड़े होकर ठिठुरते दिखाई दिए। कई जगह कच्ची संपर्क मार्ग टूटा तो कई लोगों के कच्चे आशियाना धराशाई हो गया।

छत्तीसगढ़ सीमा से सटे सागो बांध में शनिवार को सुरेंद्र प्रजापति पुत्र विश्वनाथ प्रजापति ,भारत लाल पुत्र गोकुल प्रसाद ,सीताराम पुत्र विश्वनाथ, कुसुम देवी पत्नी स्वर्गीय इंद्रदेव, मीना देवी पति कमलेश पनिका के कच्चे घरों को बारिश ने कहर बरपाया और इनका आशियाना भरभरा कर गिर गया। इन कच्चे घरों में निवास करने वाले लोग बेघर होने की स्थिति में हो गए। गनीमत यह रही कि रविवार से बारिश रुक गई है। सा गोबांध ग्राम प्रधान प्रतिनिधि गोपाल प्रसाद ने इसकी सूचना क्षेत्रीय लेखपाल को दिया और मांग किया कि बेघर लोगों को उचित मुआवजा दिया जाए।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!