भुगतान के लिए श्रमिकों का तीसरे दिन भी धरना जारी

कृपाशंकर पांडे(संवाददाता)

ओबरा। दुसान कम्पनी के विरुद्ध आज तीसरे दिन भी श्रमिक धरने पर डटें रहे।सुबह के समय कार्य पर जा रहे श्रमिकों को काला फीता लगा कर धरनारत श्रमिकों ने दुसान कम्पनी का विरोध प्रदर्शन किया,शाम के समय हाथों में पोस्टर लेके दुसान कम्पनी के विरुद्ध श्रमिकों ने नारेबाजी की।धरना प्रदर्शन का नेतृत्व कर रहे भारतीय संविदा श्रमिक संगठन (पंजी०) के महामंत्री – नागेन्द्र प्रताप चौहान ने कहा कि, दुसान कम्पनी श्रमिकों के बकाया वेतन को हड़पने की मंशा बना ली है।कम्पनियों के आपसी विवाद का फायदा उठा कर श्रमिकों के बकाया करोड़ों रुपयों को हड़प जाना चाहती है।ओबरा सी परियोजना में ऐसा पहली बार नहीं हो रहा है इससे पहले भी दुसान कम्पनी ने केपासाईट कम्पनी के श्रमिकों के बकाया भुगतान को हड़पने की योजना बना ली थी, परन्तु संगठन के अथक प्रयास से उन श्रमिकों के बकाया वेतन का भुगतान दुसान कम्पनी से कराया गया।श्रमिकों के बकाया वेतन के भुगतान हेतु आर सी जारी की जा चुकी है जिसकी वसूली की प्रक्रिया अभी लंबित है।इसी दौरान कम्पनी ने श्रम विधि विरुद्ध जा कर उन सारे श्रमिकों को ब्लैक लिस्ट कर दिया जिनका कम्पनी में वेतन बकाया है।दुसान कम्पनी भ्रष्टाचार का अड्डा बन चुकी है,जहां श्रमिकों के मौलिक अधिकारों का हनन करते हुए उन्हें बंधुआ मजदूरों की कार्य कराया जा रहा है।दुसान कम्पनी में न्यूनतम मजदूरी मांगने पर श्रमिक को कार्य से निकाल दिया जाता है।ओबरा सी परियोना में चार साल से काम करने वाले श्रमिकों को बोनस भुगतान का एक रूपया भी नहीं मिला।धरनारत श्रमिकों के खिलाफ हो रहे अन्याय को जिला प्रशासन मूक दर्शक बन देख रहा है।कम्पनी श्रमिक के मांगों को अपने लाभ हेतु अनदेखा कर रहा है।धरनारत श्रमिक श्री नदकेश्वर शाह ने कहा की हम कोई भीख नहीं अपनी मेहनत का पैसा कम्पनी से मांग रहे है ,यदि कम्पनी श्रमिको के वेतन का भुगतान नहीं कर सकती तो इसे कार्य करने का कोई अधिकार नहीं है ।इस दौरान धरना स्थल पर संतोष पनिका, रोशन सिंह पटेल,रामजी निषाद,हयात अंसारी, मुबारक अंसारी,समिम अंसारी, जमील, अतुल्लाह, सेराज, इदरीश,उमेश पासवान, वीरेंद्र यादव, पप्पू , मुकेश,धनजी, लाल बहादुर,सचिन, नांदकेश्वर शाह श्रमिक उपस्थित रहे।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!