कोरोना की तीसरी लहर से बचाने के लिए रेल अस्पताल तैयार

मनोहर कुमार (संवाददाता)

पांच पीडियाट्रिक आईसीयू बेड
चंदौली। कोरोना की तीसरी लहर के मद्देनजर मंडल रेल चिकित्सालय में बाल चिकित्सा के लिए तैयारी की जा रही है।बच्चों के कोरोना से प्रभावित होने की संभावना को देखते हुए पांच पीडियाट्रिक आईसीयू बेड बनाए गए है।पांचों पीडियाट्रिक आईसीयू बेड पर वेंटिलेटर की सुविधा है।15 बेड का पीडियाट्रिक जनरल वार्ड भी बनाया गया है।
मंडल रेल प्रबंधक राजेश कुमार पांडेय के दिशा निर्देशन में पंडित दीन दयाल उपाध्याय रेल मंडल (डीडीयू मंडल) रेल कर्मियों व उनके परिजनों को उत्तम चिकित्सा सुविधाएं मुहैया करा रहा है। मुख्य चिकित्सा अधीक्षक आर के मिश्रा के नेतृत्व में मंडल के चिकित्सा विभाग द्वारा डीडीयू जंक्शन स्थित मंडल रेल चिकित्सालय में पर्याप्त चिकित्सा सुविधाएं उपलब्ध कराई गई हैं तथा उसमें निरंतर बढ़ोतरी की जा रही है।
वरीय मंडल चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर सी एस झा के अनुसार विशेषज्ञों द्वारा कोरोना की तीसरी लहर में बच्चों के भी अधिक प्रभावित होने की संभावना जताई जा रही है। इस संभावना पर गंभीरता से कार्य करते हुए मंडल रेल चिकित्सालय में कोरोना प्रभावित बच्चों के इलाज हेतु बाल चिकित्सा सुविधाओं को लेकर सुदृढ़ तैयारी की गई है। मंडल के चिकित्सा विभाग द्वारा कोरोना की संभावित तीसरी लहर को लेकर तैयारी के क्रम में डीडीयू जंक्शन स्थित मंडल रेल चिकित्सालय में बच्चों के इलाज हेतु समर्पित 5 पीडियाट्रिक आईसीयू बेड उपलब्ध कराए गए हैं। पांचों पीडियाट्रिक आईसीयू बेड पर इनवेसिव और नॉन-इनवेसिव दोनों तरह के वेंटिलेटर की सुविधा उपलब्ध है। इसके अलावा बच्चों के इलाज हेतु समर्पित 15 बेड का सामान्य पीडियाट्रिक वार्ड भी तैयार किया गया है। साथ ही संबंधित सभी दवाओं की उपलब्धता भी सुनिश्चित की जा रही है। कोरोना की संभावित तीसरी लहर के दौरान अधिक संख्या में बच्चों के बुखार से ग्रस्त होने की स्थिति होने पर मंडल रेल चिकित्सालय में अलग से पेडियाट्रिक फीवर क्लीनिक खोलने की भी तैयारी है। आवश्यकता होने पर मंडल रेल चिकित्सालय में ही बच्चों हेतु अलग स्थान पर कोविड टेस्टिंग की व्यवस्था करने की भी तैयारी है ताकि बच्चों को कोविड टेस्ट के मौजूदा स्थान पर टेस्ट के लिए आने वाले अन्य लोगों में मिश्रित होने से बचाया जा सके।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!