समीक्षा बैठक में नाराज डीएम ने मांगा स्पष्टिकरण

फ़ैयाज़ खान मिस्बाही(ब्यूरो)

गाजीपुर। जिलाधिकारी एम पी सिंह की अध्यक्षता में कर-करेत्तर एंव मासिक स्टाफ बैठक शुक्रवार को विकास भवन सभागार में सम्पन्न हुआ। बैठक में जिलाधिकारी ने आडिट आपत्ति, अंश निर्धारण, आईजीआरएस, मोटर देय, सिचाई, काउण्डर फाईल, चकबन्दी, व्यापार कर, विद्युत देय, आबकारी, औद्योगिक ऋण, बाट माप, बैक देय, परिवहन, मण्डी समिति, वन विभाग, स्टाम्प एवं नगर पालिका के सम्बन्ध में विस्तारपूर्वक समीक्षा की।
उन्होने जनपद मे बड़े बकायेदारों की वसूली, विभागीय राजस्व प्राप्ति की प्रगति, 5 वर्ष से अधिक पुराने राजस्व वादों के निस्तारण, दो लाख रूपये से अधिक धनराशि के बकायेदारों, आवास स्थल आवंटन की प्रगति की स्थिति, मत्स्य/तालाब, पोखरों के आवंटन की प्रगति, कुम्हारी कला एवं आम आदमी बीमा योजना की समीक्षा के दौरान उन्होनें समस्त सम्बन्धित अधिकारियों को अपने लक्ष्य के प्रति प्रत्येक माह पूर्ण करने की कार्य योजना बनाकर मूर्त रूप प्रदान करने निर्देश दिया। जिलाधिकारी ने संबंधित अधिकारियों का आह्वान करते हुए उन्हें निर्देश दिया कि राजस्व प्राप्ति के संबंध में जो विभाग कार्य कर रहे है उनके द्वारा अपने-अपने लक्ष्य को प्रत्येक माह उसे पूर्ण कर अंतिम रूप प्रदान किया जाए ताकि सभी विभागों में राजस्व प्राप्ति के लक्ष्य पूर्ण किए जा सकें। इसमें किसी भी स्तर पर लापरवाही एवं शिथिलता क्षम्य नहीं होगी।
इसी क्रम में जिलाधिकारी नेें 50 लाख से अधिक लागत के निर्माण कार्य की समीक्षा की। बैठक में जिलाधिकारी ने आवास विकास, राजकीय निर्माण निगम लि0 बलिया, वाराणसी, भदोही, सी एन डी एस, जल निगम, लोक निर्माण विभाग, यू पी सिडको, प्रोजेक्ट कार्पोरेशन वाराणसी, आजमगढ़, आर ई एस एवं लैकफेड कार्यदायी संस्थाओ द्वारा कराये जा रहे कार्यो की विस्तारपूर्वक समीक्षा की। बैठक में समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी ने राजकीय निर्माण निगम उ0प्र0 सरकारी संघ वाराणसी के द्वारा समय पर कार्य पूरा न होने पर नाराजगी व्यक्त करते हुए चेतावनी दी। राजकीय निर्माण निगम लि0 बलिया व सी.एन.डी.एस. द्वारा मरदह में कार्य समय पर पूरा न होने पर जल्द से जल्द पूरा करने का निर्देश दिया। राजकीय निर्माण निगम वाराणसी व भदोही कार्यदायी संस्था, उ0प्र0 प्रोजेक्ट कारपोरेशन लि0 वाराणसी द्वारा समय पर कार्य पूरा नही किया गया जिसपर जिलाधिकारी द्वारा स्पष्टिकरण जारी करने का निर्देश दिया। जिलाधिकारी ने स्टेडियम का कार्य अपूर्ण पाया गया जिसपर सख्त नाराजगी व्यक्त करते हुए तत्काल पूरा करने का निर्देश दिया। जिलाधिकारी ने कार्यदायी संस्था के अधिकारियों को निर्देश दिया कि जनपद में वे कार्य जो गतिमान है तथा वे कार्य जो पूर्ण होने के बावजूद अभी हैण्ड ओवर नही किया गया व कार्य जहा शुरू नही किया उसे तत्काल शुरू कराकर हैण्ड ओवर किया जाय। उन्होने स्पष्ट किया कि निर्माण कार्याे में किसी भी स्तर पर लापरवाही को बहुत ही गंभीरता से लिया जाएगा और संबंधित विभाग के अधिकारी उसके लिए पूर्ण रूप से जिम्मेदार होंगे।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!