बकरीद व कांवड़ यात्रा को लेकर हुई शान्ति समिति की बैठक

कुलदीप कुमार चौरसिया (संवाददाता)

सिंगाही खीरी । ईद उल अजहा और सावन महाशिवरात्रि पर्व को लेकर थाना प्रांगण में शांति समिति की बैठक हुई। अधिकारियों ने कहा कि एक दूसरे के त्यौहार भाईचारे के साथ मनाने चाहिए। ईद-उल-अज़हा (बकरीद), पर्व पर नई परम्परा कायम नहीं करने दी जायेगी। थाना प्रांगण में आयोजित शान्ति समिति की बैठक को सम्बोधित करते हुए उपजिलाधिकारी ओपी गुप्ता ने कहा कि हमें एक दूसरे के त्यौहार साम्प्रदायिक सौहार्द के साथ सहयोग की भावना के साथ मनाने चाहिये। उन्होंने कहा की असमाजिक तत्वों का कोई धर्म नही होता, हम सभी को असमाजिक तत्वों पर नजर रखनी चाहिए और कोई संदिग्ध व्यक्ति नजर आये उसकी सुचना तुरन्त पुलिस को देनी चाहिए ताकि समय रहते पुलिस कार्यवाही कर सके। उन्होने मुस्लिम समाज से आहवान किया कि वह कुर्बानी के बाद उसके अवशेष को इधर उधर न फैंके, नालियों में कुर्बानी का खून न बहाये, कुर्बानियों से निकलने वाले रक्त को नालियों में प्रवाहित न करके गड्ढा खोदकर एकत्र कर दबाया जाये, कुर्बानी के गोश्त व अवशेषों को ढक कर ले जाया जाये। पुलिस क्षेत्राधिकारी प्रदीप कुमार वर्मा ने कहा की क्षेत्र में कांवर यात्रा पर कोई नई परम्परा शुरू नही करने दी जायेगी और विवादित स्थानों पर विशेष सतर्कता बरती जायेगी। इस दौरान थानाध्यक्ष भानू प्रताप सिंह, पूर्व चेयरमैन मो कय्यूम, प्रधान शिवराज कनौजिया, आज़ाद, जलीस अहमद, इमाम जामा मस्जिद मुजीबुर्रहमान, मौलाना तौहीद, हाफ़िज़ फारूक मौलवी इमामत, सहित अनेक सम्भ्रान्त लोग मौजूद रहे।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!