तहसील मुख्यालय पर प्रदर्शन करने जा रहे सपा कार्यकर्ताओं को पुलिस ने किया नजरबंद

पी.के.विश्वकर्मा (संवाददाता)

-शान्ति व्यवस्था के मद्देनजर की गयी कार्यवाही

कोन। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष के आह्वाहन पर 15 जुलाई को प्रदेश सरकार द्वारा किये जा रहे लोकतंत्र की हत्या व बढते महगाई को लेकर प्रदेश के सभी तहसीलों पर सपाईयों द्वारा सरकार के विरोध मे प्रदर्शन का कार्यक्रम निर्धारित था जिसके अनुपालन मे बृहस्पतिवार को सपा जिला कोषाध्यक्ष विजयशंकर जायसवाल के अगुवाई मे क्षेत्र के दर्जनों सपा कार्यकर्ता तहसील जाने वाले ही थे कि कोन पुलिस ने सभी को शान्तिभंग की अंदेशा मे थाने लाकर नजरबंद कर दिया गया। जिससे नाराज सपा कार्यकर्ताओं ने जमकर नारेबाजी करते हुये कहा का कि जब जब योगी डरता है पुलिस को आगे करता है समेत तमाम नारे लगाये।सपा जिला कोषाध्यक्ष विजय शंकर जायसवाल ने कहा की योगी सरकार से जनता त्रस्त है प्रदेश की जनता बदलाव चाहती है।

किसान नौजवान, बेरोजगार व्यापारी सभी परेशान है मंहगाई चरम पर है पेट्रोल डीजल की किमत से लोग परेशान है जिसकी जबाब जनता 2022 मे देने के लिए मन बना लिया है जिससे डरी भाजपा सरकार बदले की भावना से सपाईयों पर कार्यवाही कर रही है।लेकिन हम सभी समाजवादी जनता की आवाज उठाते रहेंगे जनता की भावनाओं के साथ खेलवाड़ नहीं होने देगें, सरकार द्वारा लोकतंत्र की धज्जियां उडाई जा रही है समेत आवाज उठाये। व 17 सूत्रीय मांग पत्र राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन भी थाना प्रभारी को सौपा।गिरफ्तार मे मुख्य रूप से विजयशंकर जायसवाल, लक्ष्मी कुमार जायसवाल, अलखनारायण शुक्ला, जिला पंचायत सदस्य आनन्द खरवार, छविन्द्रनाथ चेरो, अशोक निराला, अनुज त्रिपाठी, अजय चतुर्वेदी, अजय जायसवाल, ओमप्रकाश यादव, रामलगन यादव,समेत दर्जनों सपा कार्यकर्ताओं को नजरबंद किया गया।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!