तहसील स्तर पर प्रदर्शन से पहले पूर्व घोरावल विधायक समेत कई सपा नेता किये गए नजरबंद

आनंद कुमार चौबे (संवाददाता)

तहसील स्तर पर सपाइयों के प्रदर्शन से पूर्व पुलिस द्वारा सपा के कई नेताओं को नजरबंद करने का लगाया आरोप

● पूर्व घोरावल विधायक का आरोप आज सुबह से ही उनके घर के बाहर तैनात की गई फोर्स

सोनभद्र । आज सपा द्वारा तहसील मुख्यालयों पर प्रस्तावित प्रदर्शन व ज्ञापन कार्यक्रम से पूर्व ही पुलिस ने शांति व्यवस्था को लेकर चौकसी बढ़ा दी है। पुलिस ने कई बड़े सपा नेताओं के घर के बाहर फोर्स तैनात कर दी जबकि कई अन्य नेताओं को थाने बुलाकर बैठा लिया गया।

बतादें कि आज सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के दिशा निर्देश के अनुसार प्रदेश सरकार के विरोध में सपा द्वारा सभी तहसील मुख्यालयों पर ज्ञापन देने का कार्यक्रम प्रस्तावित है।

इस दौरान पूर्व घोरावल विधायक रमेश दुबे ने कहा कि “स्थानीय निकाय के चुनाव में लोकतंत्र पर कुठाराघात कर पंगु बना दिया है। प्रदेश में बिगड़ी कानून व्यवस्था, महंगाई, बेरोजगारी एवं बदहाल स्वास्थ्य सेवा, महिला उत्पीड़न की बढ़ते मामलों के चलते आम आदमी परेशान है। ऐसे में प्रदेश सरकार सपा के प्रदर्शन से घबराई हुई है। राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के आह्वान पर समाजवादी पार्टी आज पूरे प्रदेश में तहसील स्तर पर धरना प्रदर्शन करेगी। जिससे डर कर योगी सरकार ने पूरे प्रदेश में अघोषित इमरजेंसी लगा दी गई है। पूरे प्रदेश में सपा के नेताओं को नजरबंद किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी का कार्यालय पुलिस छावनी में तब्दील कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार को सपाई चेतावनी देते हैं कि हम लोग सरकार के खिलाफ सड़कों पर अपनी लड़ाई लड़ेंगे। महिलाओं को न्याय, कानून व्यवस्था, किसान, नौजवान, बेरोजगारों और महंगाई के मामले पर जब तक हमें न्याय नहीं मिल जाता, तब तक हम अखिलेश यादव के नेतृत्व में संघर्ष करेंगे।”

सीओ सिटी राजकुमार तिवारी ने कहा कि “किसी को भी नजरबंद नहीं किया गया है। सिर्फ कानून व्यवस्था के दृष्टिगत पुलिस बल तैनात किया गया है।”

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!