पेट्रोल डीज़ल की बढ़ती कीमतों के विरोध में भारतीय युवा कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने साइकिल चलाकर जताया विरोध

संतोष जायसवाल / हनीफ़ खान (संवाददाता)

करमा। रविवार को भारतीय युवा कांग्रेस के पूर्व-जिला अध्यक्ष आशुतोष कुमार दुबे (आशु) के नेतृत्व में युवाओं ने घोरावल विधानसभा के करमा ब्लॉक से कोविड-19 को ध्यान में रखते हुए सोशल डिस्टेंसिंग के साथ मास्क पहनकर साइकिल चलाते हुए बढ़े डीजल/ पेट्रोल के मूल्य बृद्धि का विरोध किया। साथ ही बढे दामो को तत्काल प्रभाव से वापस लेने की मांग भी की । आशू दुबे ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय बाजार में क्रूड आयल की कीमत 74 डॉलर प्रति बैरल की है लेकिन डीजल पेट्रोल का दाम क्रमशः 90 और 100 के करीब हो गया है जो ऐसा दर्शाता है कि वर्तमान सरकार आम जनमानस को ध्यान में नहीं रख रही है वही अगर हम देखें तो जब कांग्रेसी सरकार हुआ करती थी उस समय 2008 में क्रूड ऑयल की कीमत 141.38 डॉलर बैरल थी। करीब 6 सालों तक क्रूड ऑयल की कीमतों में इजाफा ही रहा। या यूं कहें कि 2008 से 2014 के बीच पांच साल ऐसे रहे जब इंटरनेशनल मार्केट में क्रूड ऑयल कीमत 100 डॉलर बैरल से अधिक रही। सिर्फ 2009 -2010 दो ऐसे साल रहे जब क्रूड ऑयल मार्केट में 100 डॉलर प्रति बैरल कम में मिला। लेकिन कीमत 70 डॉलर बैरल से अधिक ही रही, लेकिन डीजल पेट्रोल का मूल्य वर्तमान समय की तरह लगातार बेतहाशा नहीं बढ़ता रहा और उस समय वर्तमान समय की तरह कोई महामारी भी नहीं थी । आम जनमानस का जीवन जिस प्रकार से इस समय चल रहा है, वह अतिरिक्त भार लेने की स्थिति में एकदम नहीं है। लेकिन कीमतें आसमान को छू रही हैं।

जहां एक ओर क्रूड आयल का दाम वर्तमान समय मे 74 डॉलर प्रति बैरल के करीब है वही डीजल 90 के पार और पेट्रोल ₹100 पहुंच गया है कॅरोना महामारी में एक ओर जहां व्यापारियों की बिक्री खत्म हुई है ,किसान खेती को लेकर परेशान है, युवाओं की नौकरी गई है, बेरोजगारी का दंश नौजवान झेल रहा है, गरीब, आदिवासी ,दलित हर वर्ग वर्तमान समय में इस महामारी में अपनी जीविका किसी प्रकार से चला रहा है, देखा जाए तो पिछले कुछ महीनों में लगातार डीजल/ पेट्रोल का मूल्य बढ़ता चला जा रहा है । एक ओर आम -जनमानस को राहत देने की बात तो दूर सरकार द्वारा डीजल/ पेट्रोल पर लगाम न लगाना ,रसोई गैस की कीमतें भी जहां रुपये900 तक चली गई ,आम जनमानस अपना चलने से लेकर भोजन तक की व्यवस्था करने में टूट चुका है लेकिन महंगाई रुकने का नाम नहीं ले रही है । वर्तमान समय खेती का है किसानों की आय जहां कम हुई है वही डीजल का रेट 90 के पार होने से उनकी खेती में भी तमाम परेशानियां आ रही हैं स्थानीय कृषकों ने इसको लेकर अपनी बातों को कहा की मौजूदा सरकार का किसानों के प्रति रवैया ठीक नहीं है डीजल का दाम बढ़ने से ट्रांसपोर्टिंग भी बहुत महंगी हुई जिससे कि दैनिक जीविका की चीजो का दाम भी काफी बढ़ा है एक तरफ करोना तो दूसरी तरफ महंगाई की मार से जनता पूरी तरीके से त्रस्त हो चुकी है जिसको लेकर आज युवा साथियों ने आशुतोष कुमार दुबे के साथ साइकिल चलाकर मौजूदा सरकार से आम जनमानस को राहत देने की बात कही मुख्य रूप से उपस्थित रहने वालों में मनोज मिश्रा,श्रीकांत मिश्रा, रामचंद्र भारती, इंद्रजीत शुक्ला, सूरज वर्मा,दसरथ त्रिपाठी, जीरा देवी,मुरारी मोहन तिवारी,कमलावती देवी,सिद्धनाथ भारती, अनिता देवी, विक्रम भारती रहे ।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!