प्रतिबंधित मछली की बिक्री पर एसडीएम दुद्धी व मत्स्य विभाग का छापा

मनोज वर्मा (संवाददाता)

रेनूकूट। रेनुकूट में दुद्धी एसडीएम एवं मत्स्य विभाग के टीम के द्वारा प्रतिबंधित मछली थाई माँगूर के संबंध में छापेमारी की गई।
कल शाम लगभग 6:00 बजे दुद्धी उपजिलाधिकारी रमेश कुमार, सहायक निर्देशक मत्स्य-सोनभद्र विजय पाल, इंस्पेक्टर मत्स्य पिपरी राकेश ओझा, रेणुकूट पुलिस चौकी प्रभारी मनीष द्विवेदी फोर्स के साथ रेणुकूट चाचा कॉलोनी स्थित मछली मंडी में प्रतिबंधित मछली थाई माँगूर से संबंधित छापेमारी की गई
जिसमें दो मछली विक्रेताओं के पास से प्रतिबंधित मछली जप्त की गई। जप्त की गई मछली को मुर्धवा के जंगल में ले जाकर गड्ढा खुदवाकर मिट्टी में दफन करके डिस्पोज किया गया।

प्रतिबंधित मछली के खिलाफ चलाई गई इस मुहिम के संबंध में उपजिलाधिकारी दुद्धी रमेश कुमार ने बताया कि थाई माँगूर शासन द्वारा प्रतिबंधित है और इस प्रतिबंधित थाई माँगूर की बाज़ार में बिक्री की खबर उनको मिली जिस पर जप्ती और उसे डिस्पोज़ करने की कार्यवाही कि गयी । मत्स्य विभाग के सहायक निर्देशक सोनभद्र श्री विजय पाल ने बताया कि थाई माँगूर एक कार्निवोर्स प्रजाति की मछली है जिसे शासन द्वारा विगत कई वर्षों से प्रतिबंधित कर दिया गया है ।

उन्होंने बताया कि यह थाई माँगूर इतनी खतरनाक होती है की अगर किसी जलाशय में इस मछली को छोड़ दिया गए तो उनके द्वारा अन्य जीवों को समाप्त कर दिया जाएगा और श्री पाल ने बताया कि उनके द्वारा अपने सेवाकाल में 20 किलो वजन तक कि थाई माँगूर देखी गयी है और गलती से किसी व्यक्ति का हाथ उसके मुँह के सम्पर्ग में आ जाए तो व्यक्ति का हाथ उसका निवाला बन जायेगा ।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!