एमडीएम में रुकेगा फर्जी अंकन, पोर्टल पर तैयारी

संजीव कुमार पांडेय (संवाददाता)

मिर्जापुर । मध्याह्न भोजन योजना के तहत अब फर्जी अंकन नहीं हो सकेगा। पारदर्शिता के लिए विद्यालयों में पंजीकृत बच्चों का विवरण प्रेरणा पोर्टल पर दर्ज किया जाएगा। प्रधानाध्यापकों को मिड डे मील से जुड़े कक्षा एक से आठ तक के सभी विद्यार्थियों का डाटा अपलोड कराना अनिवार्य है। पोर्टल पर डाटा अपलोड न कराने वाले प्रधानाध्यापकों के खिलाफ कार्रवाई तक की जा सकती है।

शासन ने शत-प्रतिशत छात्रों के अभिभावकों के बैंक खातों में एमडीएम के कन्वर्जन कास्ट की धनराशि पीएफएमएस से भी भेजना अनिवार्य कर दिया है, इसके चलते भी अब बाध्यता हो गई है। महानिदेशक विजय किरण आनंद ने इस बाबत पत्र भेजा है। इसमें समय से धनराशि न भेजे जाने पर शासन स्तर से संबंधित के खिलाफ विधिक कार्रवाई की जाएगी। वर्तमान समय में जनपद में 398 कंपोजिट विद्यालय, 1200 प्राथमिक विद्यालय, 208 उच्च प्राथमिक सहित कुल 1806 विद्यालय संचालित हो रहे हैं। इनमें पंजीकृत लगभग दो लाख 95 हजार बच्चें योजना से आच्छादित हैं। जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी गौतम प्रसाद ने सभी खंड शिक्षा अधिकारियों के साथ ही जिला समन्वयक एमडीएम को इस बाबत दिशा निर्देश जारी किया है। जिसस पोर्टल पर डाटा को ससमय अपलोड कराया जा सके। डाटा अपलोड नहीं कराने पर संबंधित के खिलाफ कार्रवाई की चेतावनी भी दी है।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!