बीएड छात्रों का हंगामा, स्कूल प्रशासन पर अवैध वसूली करने का लगाया आरोप

गौरव पाण्डेय (संवाददाता)

फरीदपुर (बरेली) । कोरोना काल के भयानक मंजर को दरकिनार कर शिक्षण संस्थान अवैध वसूली करने पर उतारू हो गए हैं जो छात्रों के भविष्य और अध्यापकों के लिए घातक सिद्ध हो रहे हैं। राष्ट्रीय राजमार्ग स्थित पीजीआई ग्रुप द्वारा संचालित कॉलेज के छात्रों ने अपनी इस समस्या को लेकर हंगामा कर दिया । जब शिक्षकों ने जबरन अवैध वसूली का दबाव डाला मीडिया कर्मी भी मौके पर पहुंच गए तो मामला उजागर हुआ ।
बता दे विगत 2 वर्षों से महामारी काल के दौरान शिक्षण संस्थाओं में पढ़ाई चौपट है लेकिन अभिभावकों पर शिक्षण संस्थान के अध्यापक तरह-तरह के हथकंडे अपनाकर पूरे वर्ष की फीस के अलावा अवैध वसूली करने में जुटे हैं । ऐसा ही एक मामला केसरपुर के निकट हाईवे स्थित एक इंस्टिट्यूट द्वारा संचालित केसीएमटी केंपस में उजागर हुआ । जहां बी एड द्वितीय वर्ष के छात्रों से आवेदन जमा करने के नाम पर प्रवेश शुल्क ₹30000 के अलावा फाइन चार्ज 10000 से ₹12000 रुपए जबरन जमा कराने का छात्रों पर दबाव बनाया जा रहा है। छात्रों का आरोप है कि प्रवेश के समय प्रशासन ने ₹5000 किट के जमा कराएं लेकिन उसमें ₹500 के लगभग का सामान मिला बाकी कॉलेज प्रशासन हजम कर गया । कॉलेज के शिक्षक मैनेजमेंट का बहाना बनाकर बिना रसीद के अवैध वसूली की 15 से 20 हजार रुपए की रकम जमा करने को कह रहे हैं । छात्रों ने बताया कि कोरोना काल के दौरान शिक्षण संस्थान में कोई पढ़ाई नहीं हुई केवल ऑनलाइन का फंडा अपनाया गया ।विगत वर्ष छात्र-छात्राओं की स्कॉलरशिप व शुल्क प्रतिपूर्ति कालेज प्रशासन डकार गया ।

छात्रों ने एलान किया है कि कॉलेज प्रशासन समस्या का निदान करे अन्यथा आंदोलन का रास्ता पकड़ना पड़ेगा । जिसकी जिम्मेदारी कालेज प्रशासन की होगी। छात्रों ने अवैध वसूली के चक्रव्यूह से निकलने के लिए आगे की पृष्ठभूमि तैयार कर जिला प्रशासन से अवैध वसूली पर प्रतिबंध लगाए जाने की मांग की है।मीडिया कर्मियों ने जब विभागाध्यक्ष से बात की तो उन्होंने आरोपों को निराधार बताया ।
वहीं बी एड द्वितीय वर्ष के छात्र संजीव मिश्रा ने बताया कि मैंने इस बात की सूचना फरीदपुर एसडीएम साहब को भी दे दी है जिन्होंने आश्वासन दिया है कि कल आप लिखित में शिकायत दे ।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!