एसडीआरएफ टीम ने ढूंढ निकाला युवक का शव

फ़ैयाज़ खान मिस्बाही(ब्यूरो)

गाजीपुर। सादात बीते दिनो बेसो नदी में कूदे युवक का शव तीसरे दिन एसडीआरएफ टीम ने काफी मशक्कत के बाद झाड़ियों से बरामद किया। शव पर नजर पड़ते ही परिजन चीख-पुकार करने लगे। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।
मालूम हो कि क्षेत्र के वृंदावन (कथकवली मौजा) निवासी स्व. अजय सिंह का पुत्र विशाल सिंह (25) बीते सोमवार की शाम करीब सात बजे ताल गांव और मीरपुर के बीच नटवाबीर बाबा मंदिर के पास पहुंचा था। छलका पुल पर बाइक खड़ा करने और मोबाइल रखने के बाद नदी में छलांग लगा दिया था। आसपास मौजूद लोगों की जैसी ही उस पर नजर पड़ी थी, वह उसे बचाने के प्रयास में जुट गए थे, लेकिन वह डूब गया था।सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने ग्रामीणों की मदद से सोमवार की पूरी रात और अगले दिन मंगलवार को सैदपुर से आए गोताखोरों ने काफी खोजबीन की थी, लेकिन कुछ पता चल सका था। बुधवार को करीब 11 बजे इलाहाबाद से राज्य आपदा प्रतिक्रिया बल (एसडीआरएफ) की टीम पहुंची। टीम ने काफी दूर-दूर तक उसकी खोजबीन के बाद करीब पौने दो बजे झाड़ियों के बीच से युवक के शव को ढूंढ़ निकाला। झाड़ियों को काटकर करीब तीन बजे शव पानी से बाहर निकाला जा सका। शव पर नजर पड़ते ही बहनें बुलबुल, शिल्पी, सपना और मां सीमा सिंह, बड़े पिता विनोद सिंह, अखिलेश सिंह सहित परिवार के अन्य लोग चीख-पुकार करने लगे। मौजूद लोग उन्हें सांत्वना देने में जुट गए। मृतक विशाल सिंह एक दवा कंपनी में मेडिकल रिप्रेजेंटेटिव के पद पर जौनपुर जिले में कार्य करता था। वह अभी अविवाहित था। पिता के निधन के बाद परिवार के भरण-पोषण की जिम्मेदारी उस पर ही थी। वह इन दिनों काफी कर्ज में डूबा था। उसके आत्महत्या करने का कारण लोग कर्ज मान रहे हैं। इस संबंध में बहरियाबाद थाना प्रभारी निरीक्षक ईष्टदेव ने बताया कि शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!