जिला पंचायत में करारी हार के बाद दिखाई सख्ती, मांगा 7 जुलाई तक हार का जबाब

यूपी जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव में समाजवादी पार्टी को मिली करारी हार के बाद अखिलेश यादव ने सख्ती दिखाई है। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने जिला महासचिवों से उम्मीदवार की हार के कारण बताते हुए सात जुलाई तक रिपोर्ट देने के लिए कहा है।

इस संदर्भ में समाजवादी पार्टी ने एक पत्र जारी किया है । पत्र में जिला अध्यक्ष, महानगर अध्यक्ष और जिला महासचिवों से कहा गया है कि अखिलेश यादव के निर्देश पर जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव में क्या कारण रहे कि उम्मीदवार की हार हुई । इस पर सात जुलाई तक रिपोर्ट अनिवार्य रूप से प्रदेश कार्यालय में जमा करवाएं ।

इस संदर्भ में समाजवादी पार्टी ने एक पत्र जारी किया है। पत्र में जिला अध्यक्ष, महानगर अध्यक्ष और जिला महासचिवों से कहा गया है कि अखिलेश यादव के निर्देश पर जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव में क्या कारण रहे कि उम्मीदवार की हार हुई । इस पर सात जुलाई तक रिपोर्ट अनिवार्य रूप से प्रदेश कार्यालय में जमा करवाएं ।

यूपी में जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव के नतीजों में बीजेपी को बड़ी जीत मिली है। पार्टी ने 75 में से 67 सीटों पर कब्जा किया है. वहीं, समाजवादी पार्टी को करारी हार का सामना करना पड़ा। अखिलेश के सिर्फ पांच उम्मीदवार ही जीत दर्ज कर सके। यूपी विधानसभा चुनाव से पहले मिली इस जीत से बीजेपी गदगद है तो सपा मायूस है । इसके अलावा, एक-एक सीट पर जनसत्ता दल, राष्ट्रीय लोकदल और एक पर निर्दलीय को जीत मिली है ।

चुनाव में बीजेपी की जीत के बाद पीएम मोदी-अमित शाह ने बधाई दी है । पीएम मोदी ने ट्वीट कर कहा है कि यूपी जिला पंचायत चुनाव में बीजेपी की शानदार विजय विकास, जनसेवा और कानून के राज के लिए जनता जनार्दन का दिया हुआ आशीर्वाद है। पीएम मोदी ने यूपी सरकार और बीजेपी संगठन को बधाई दी है। वहीं, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने इस जीत के लिए सीएम योगी, स्वतंत्र देव सिंह और बीजेपी के कार्यकर्ताओं को बधाई दी है।

समाजवादी पार्टी के लिए जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव में हार तगड़ा झटका इसलिए भी मानी जा रही है, क्योंकि उन्हें अपने ही गढ़ में मात मिली है । सपा को रामपुर, मैनपुरी, कन्नौज, बदायूं, संभल, मुरादाबाद में भी जीत हासिल नहीं हो सकी।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!