विकास कार्यों में गड़बड़झाले पर एडीओ पंचायत निलंबित

आनंद कुमार चौबे (संवाददाता)

सोनभद्र । विकास खंड करमा के सहायक विकास अधिकारी (पंचायत) रामशिरोमणि पाल को विकास कार्यों में गड़बड़झाले पर निलंबित कर दिया गया। डीपीआरओ की रिपोर्ट के बाद पंचायती राज निदेशक किंजल सिंह ने यह कार्रवाई की है। निलंबित एडीओ पंचायत को पंचायती राज निदेशालय से संबद्ध कर दिया गया है। उपनिदेशक पंचायत एस0एन0 सिंह को पूरे मामले की जांच कर रिपोर्ट दो माह में उपलब्ध कराने के आदेश दिए गए हैं। जिला पंचायत राज अधिकारी ने एडीओ पंचायत के खिलाफ शासन को कार्रवाई की संस्तुति करते हुए पत्र लिखा था। इस कार्यवाही के बाद पंचायत विभाग में हड़कम्प मच गया है।

जिला पंचायत राज अधिकारी विशाल सिंह ने बताया कि “निदेशक के आदेश मिलते ही एडीओ पंचायत को इससे अवगत करा दिया गया है। उन्होंने बताया कि उनके ऊपर ग्राम पंचायत में जिओ टैग किए गए सामुदायिक शौचालय के सापेक्ष स्वयं सहायता समूह को भुगतान न करने। 24 पंचायत भवन निर्माण के लक्ष्य के सापेक्ष समय गुजर जाने के बाद महज छह पंचायत भवन का निर्माण, शासन से प्राप्त लक्ष्य को गंभीरता से न लेने। अपने पदीय दायित्वों का निर्वहन न करने, उच्चाधिकारियों के आदेशों का पालन न करने का आरोप के क्रम में निलंबित किया गया है। डीपीआरओ ने बताया कि निलंबित एडीओ पंचायत को लखनऊ से संबद्ध कर दिया गया है। इस दौरान एडीओ पंचायत को जीवन निर्वाह के लिए वेतन मिलता रहेगा।”

डीपीआरओ ने सभी कर्मचारियों को आगाह करते हुए कहा कि एसबीएम योजना में किसी तरह की लापरवाही बरतने वाले लोगों पर यह कार्रवाई संभव है, इसलिए शासन के महत्वपूर्ण कार्यों पर गंभीरता दिखाने की जरूरत है।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!