…….जब खेत में घुस कर डीएम करने लगे धान की रोपाई

आनंद कुमार चौबे (संवाददाता)

सोनभद्र । जिलाधिकारी अभिषेक सिंह ने धान की अगैती खेती करने का संदेश देने के निमित्त कृषि विभाग के मगुराही कृषि फार्म के खेत में धान की रोपाई की। इस दौरान जिलाधिकारी ने खुद धान की रोपाई करते हुए किसानों से अपील किया कि वे कम लागत की वैज्ञानिक खेती करें, ताकि किसान फायदे में रहें और अपनी आर्थिक स्थिति को बेहतर बना सके। जिलाधिकारी ने आज कृषि विभाग के मगुंराही फार्म हाउस, जहां पर कृषि विभाग द्वारा उन्नतशील बीजों के उत्पादन के निमित्त खेती की जाती है। खरीफ की खेती के तहत मगुंराही फार्म हाउस में धान की तैयार नर्सरी के बारे में जाना और जब जिलाधिकारी को पता चला कि धान की रोपाई के लिए लेव लगाकर रोपाई के लिए खेत तैयार है। जिलाधिकारी ने कहा कि धान की रोपाई समय से होने पर धान की पैदावार भी बेहतर होती है, लिहाजा धान की खेती समय से करने के लिए प्रतिकात्मक रूप से जिलाधिकारी धान रोपित होने वाले/लेव वाले खेत में कीचड़युक्त मिट्टी का परवाह किए बगैर मुख्य नहर से पैदल चलकर खेत पहुंचे और सी0आर0-1 व सी0आर0-4 धान की प्रजाति को रोपित किया।

जिलाधिकारी के साथ जिला कृषि अधिकारी पीयूष राय, नायब तहसीलदार रवि प्रजापति सहित अन्य जनों ने भी धान रोपित किया।

जिलाधिकारी को धान की रोपाई करते देख धान रोपने वाले मजदूर हुए उत्साहित, जिलाधिकारी ने धान की रोपाई करने वाले मजदूरों को समय से मजदूरी देने के साथ ही उनकी बेहतर रहन-सहन पर भी ध्यान दिया।

जिलाधिकारी ने जिले के किसानों से अपील किया कि वे अपने खेतों के भौगौलिक बनावट के अनुरूप खेती करें। जहां पर पर्याप्त पानी मिल सकता है, वहां पर लम्बे समय वाली धान की खेती करें, जहां पर पानी सामान्य रूप से मिलता है, वहां पर कम दिनों वाली धान की अगैती खेती करें और जहां पर पानी का रूकाव कम होता है, वहां पर दलहन व तिलहन की खेती जमीन के मुताबिक करें। जिलाधिकारी ने कहा कि कम लागत में अधिक उत्पादकता की खेती पर विशेष ध्यान दिया जाय। खेती के साथ बाग-बगैचा, बागवानी के साथ ही रोजमर्रे की आमदनी वाली साग-भाजी की खेती पर भी ध्यान दिया जाय।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!