बच्चों के अपहरण की सूचना पर पुलिस रही हलकान,बच्चे मिले जंगल मे, खा रहे थे जामुन

पी.के. विश्वकर्मा (संवाददाता)

-कोन थाना क्षेत्र के बागेसोती का मामला

-कोन पुलिस समेत आला अधिकारी घंटों रहे परेशान

कोन। स्थानीय थाना क्षेत्र के बागेसोती चौकी क्षेत्र मे उस समय हडकंप मच गया जब अचानक तीन बच्चों को अपहरण होने की सुचना आग की तरह फैल गयी,परिजनों ने अपहरण की सूचना डायल 112 पर देते ही कोन पुलिस समेत जिले के आला अधिकारियों मे भी हडकंप मच गया ।सूचना मिलते ही अधिकारियों के आदेश पर कोन पुलिस चारों ओर नाकाबंदी कर खोजबीन शुरू कर दिया की लगभग एक डेढ घंटे बाद तीनों गायब बच्चे अपने घर से कुछ ही दुर जंगल मे जामुन खाते मिले।तीनों बच्चों के मिलते ही पुलिस राहत की सांस ली और बच्चों से पुछताछ के बाद उनके परिजनों को सुपुर्द किया।
मिली जानकारी के अनुसार बुधवार को सुबह लगभग 10 बजे बागेसोती के टेढवातेन निवासी चार बच्चे 6-10 वर्ष के बच्चे अपने घर के पास ही कचनरवा बागेसोती बार्डर पर खेल रहे थे कि उधर से एक बलोरो गुजरा कि बच्चों ने गांडी पर पत्थर फेका कि आगे जाकर गांडी वापस आने लगी कि तीन बच्चे जंगल की ओर भाग गया व चौथा बच्चा जो 6 वर्ष का था तीनों साथियों को न देकर अपने जाकर अपने पिता को बताया की एक गांडी वाला तीनों को जबरजस्ती गांडी मे बैठाकर ले गया, बच्चे की बात सुनते ही परिजनों ने 112 पर तीन बच्चों का अपहरण की सूचना दिया।

सूचना मिलते ही कोन पुलिस समेत पूरे जिले मे हडकंप मच गया। सुचना मिलते ही एडीशनल एसपी भी कोन पहुंच गये।हालांकि सूचना मिलते ही कोन पुलिस चारों ओर नाकाबंदी कर तलाश कर ही रहा था कि लगभग डेढ दो घंटे बाद तीनों बच्चे उसी जंगल मे भागकर जामुन खा रहा था।मौके पर पुलिस पहुंच कर पुछताछ कर तीनों को परिजनों को सौप दिया। प्रभारी निरीक्षक विनोद कुमार सिंह ने बताया चार बच्चों मे से अचानक तीन बच्चे जंगल मे भाग गया जिसे चौथा बच्चा नहीं देख पाया और अपने घर अपहरण की सुचना दे दिया ,जबकि तीनों बच्चोँ ने बताया कि हम लोग डर के जंगल मे भाकर जामुन खा रहे थे कोई गांडी से मुलाकात नहीं हुयी है। तीनों को सही सलामत मिलते ही कोन पुलिस राहत की सांस ली।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!