ऑनलाइन क्लासेज के दौरान स्कूल ड्रेस पहनना जरूरी नहीं, डीआईओएस ने कहा- दबाव बनाने पर होगी कार्रवाई

आनंद कुमार चौबे (संवाददाता)

सोनभद्र । जिले में प्राइवेट स्कूल ऑनलाइन क्लास के दौरान बच्चों को स्कूल ड्रेस पहनना अनिवार्य नहीं होगा। प्राइवेट स्कूल बच्चों के परिजनों पर ड्रेस खरीदने का दबाव बना रहे थे। इस मामलें काे लेकर परिजनाें ने आपत्ति जताते हुए प्राइवेट स्कूलों की मनमानी को लेकर परिजनों शिक्षा विभाग के आला आधिकारियाें से शिकायत की थी। जिला विद्यालय निरीक्षक प्रवीण कुमार मिश्रा ने स्पष्ट किया है कि कोई भी प्राइवेट स्कूल बच्चों की होने वाली ऑनलाइन क्लास के दौरान ड्रेस पहनना अनिवार्य नहीं कर सकते। दबाव बनाने पर प्राइवेट स्कूल या संस्थान पर होगी कार्यवाही।

कोरोना काल के दौरान कई बच्चों के परिजनों की नौकरी चली गई और कई के रोजगार बंद हैं। कुछ लोग इस महामारी में बेघर तक हो गए हैं। ऐसे समय में भी प्राइवेट संस्थान नए-नए तरीके से अभिभावकों से रुपए कमाने की तरकीब लगाने में लगे हैं। कुछ प्राइवेट स्कूल संस्थान अब बच्चों की ऑनलाइन क्लास शुरू होने से पहले ही अभिभावकों पर स्कूल ड्रेस खरीदने का दबाव बनाने लगे हैं। इस मामले का जिला प्रशासन ने संज्ञान लिया है और कहा है कि बच्चों को ऑनलाइन क्लासेज में स्कूल ड्रेस पहनना जरूरी नहीं है। दबाव बनाने पर प्राइवेट स्कूल संस्थान पर होगी कार्यवाही।

जिला विद्यालय निरीक्षक प्रवीण कुमार मिश्रा का कहना है कि “प्राइवेट स्कूल को बच्चों की होने वाली ऑनलाइन क्लासेज के दौरान ड्रेस पहनना अनिवार्य नहीं है। अगर स्कूल संस्थान द्वारा बच्चे के अभिभावकों पर स्कूल से ड्रेस खरीदने को लेकर दबाव बनाया जा रहा है तो वह गलत है। इसकी शिकायत सीधे अफसरों से करें। जिला विद्यालय निरीक्षक के कार्यालय में भी शिकायत कर सकते हैं। जिला विद्यालय निरीक्षक ने साफ कर दिया है कि किसी भी सरकारी दफ्तर से इस तरह का काेई फरमान जारी नहीं किया गया है। अभिभावकों की स्वयं की इच्छा है।”

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
loading...
Back to top button
error: Content is protected !!